धर्म के आधार पर आरक्षण गलत :मोदी

धर्म के आधार पर आरक्षण गलत :मोदी

बक्सर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बिहार विधानसभा चुनावों के तीसरे चरण के मतदान के तहत सोमवार को प्रचार करते हुए आरक्षण के मुद्दे पर महागठबंधन पर हमला बोला। उन्होंने कहाकि धर्म के आधार पर आरक्षण गलत है। आरक्षण की रक्षा के लिए जान की बाजी लगा दूंगा। उन्होंने इस मुद्दे पर महागठबंधन को घेरते हुए कहाकि, वे लोग दलितों, महादलितों, पिछड़ों और अति पिछड़ों का 5 प्रतिशत आरक्षण छीनकर दूसरे धर्म को देने की साजिश रच रहे हैं।

उन्होंने लालू यादव और नीतीश कुमार को ललकारते हुए कहाकि 5-7 दिन बचे हैं जितनी गालियां पेंडिंग पड़ी है उनका उपयोग कर लो, लेकिन जितना कीचड़ उछालोगे उतना ही कमल खिलेगा। नीतीश कुमार कंप्यूटर देने का वादा करते हैं लेकिन बिना बिजली इसका क्या करेंगे? वैसे भी आपके कंप्यूटर में तो वायरस लगा हुआ है। कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहाकि, कांग्रेस ने बिहार पर 35 साल तक राज किया क्या यहां पर विकास होने के लिए वह जिम्मेदार नहीं है, लेकिन वे यहां आते हैं और मुझसे रिपोर्ट मांगते हैं।

मोदी ने कहाकि ये लोग आरक्षण की इतनी बातें करते हैं लेकिन जब संसद में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देने की बात आती है तो विरोध क्यों करते हैं। सोनिया गांधी से पूछा कि वह महिला आरक्षण विरोधी लोगों के साथ क्यों खड़ी हैं। जेडीयू के मंत्री और विधायक बिहार का सौदा कर रहे हैं और ये कैमरे में पकड़े गए हैं।

प्रधानमंत्री ने कहाकि, बिजली, पानी और सड़क बिहार के लिए मेरे तीन सूत्र हैं। बिजली मिली तो उद्योग लगेंगे, छात्रों की अच्छी पढ़ाई होगी और उन्हें रोजगार मिलेगा। उन्होंने कहाकि बिहार के परिवारों के लिए पढ़ाई, कमाई और दवाई मेरे सूत्र हैं। इन तीन चीजों के लिए बिहार के लोगों को बाहर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। नीतीश के तांत्रिक से मिलने पर उन्होंने कहाकि, दो चरणों में बिहार की जनता ने उन्हें साफ कर दिया है और अब उनका भरोसा लोकतंत्र से उठ गया है। इसलिए वे तांत्रिक के पास जा रहे हैं।