दिल्ली में मना 'कार-फ्री डे', मुख्यमंत्री ने चलाई साइकिल

दिल्ली में मना 'कार-फ्री डे', मुख्यमंत्री ने चलाई साइकिल

नई दिल्ली: दिल्ली में आज कार फ्री डे मनाया गया और लोगों से अपील की गई कि लोग प्रदूषण और ट्रैफिक जाम की समस्या से निजात पाने के लिए अपनी कार छोड़कर सार्वजनिक परिवहन या साइकिल से आना जाना शुरू करें।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने आज गुरुवार को लाल किला से इंडिया गेट तक साढ़े छह किलोमीटर साइकिल चलाकर लोगों से अपील की कि वो अपनी कार छोड़ साइकिल या पब्लिक ट्रांसपोर्ट को तवज्जो दें। केजरीवाल के साथ दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया, पूरी दिल्ली सरकार की कैबिनेट,लगभग सभी आप विधायक और उनके समर्थक, प्रोफेशनल साइक्लिस्ट और आम लोगों ने भी कार फ्री डे में साइकिल चलायी।

केजरीवाल मानते हैं कि जब तक सरकार सिस्टम नहीं सुधारेगी, लोग अपनी सहूलियत नहीं छोड़ेंगे। एनडीटीवी इंडिया ने जब केजरीवाल से पूछा कि आपको नहीं लगता कि ये प्रैक्टिकल नहीं है और कौन अपनी गाडी छोड़कर साइकिल चलाएगा? तो इस पर केजरीवाल ने कहा, 'कई लोग कर सकते हैं अगर सिचुएशन को इम्प्रूव किया जाए जैसे साइकिल लेन अगर बन जाएं, लोग सुरक्षित महसूस करें तो कई लोग धीरे धीरे छोड़ेंगे और दूसरा केवल साइकिल साइकिल नहीं है। बात ये है कि लोग अपनी गाड़ियां छोड़ें तो सही। पब्लिक ट्रांसपोर्ट भी हम बेहतर करेंगे, जैसे आपने देखा होगा जबसे मेट्रो आई है, बहुत सारे लोगों ने अपनी गाड़ियां छोड़ी हैं।'

कार फ्री डे 5 घटे के दौरान सख्ती दिखाने की बजाय अपील ही हावी रही इसलिए चालान या गाडी ज़ब्त करने की बजाय पुलिस और वॉलंटियर्स ने लोगों को दूसरे रास्तों पर डाइवर्ट किया। छुट्टी का दिन होने की वजह कोई ख़ास दिक्कत नहीं दिखाई दी।

ग्रीनपीस एनजीओ ने बताया कि वो बारीक कण जो गाडी के धुंए से सीधा हमारे फेफड़ों में जाता उस पीएम 2.5 की मात्रा में भारी कमी दिखाई दी है। ग्रीनपीस की टीम ने मशीन लगाकर बाकायदा रियल टाइम मॉनिटरिंग की

ग्रीनपीस के कैम्पैनर सुनील दहिया ने बताया, 'कार फ्री डे का इफेक्टिवनेस देखने के लिए लगभग 4 घंटे कल और आज मॉनिटरिंग की गई। कल जो हमने लेवल पाये थे वो 428 माइक्रो ग्राम पर मीटर क्यूब थे जोकि हमारे भारतीय स्टैण्डर्ड है नेशनल एयर एम्बिएंट एयर क्वालिटी स्टैण्डर्ड 60 माइक्रोग्राम प्रति मीटर क्यूब का है तो उससे लगभग सात गुना ज़्यादा था। अगर आज की बात अगर हम करते हैं तो 175 माइक्रो ग्राम पर क्यूबिक मीटर एवरेज 4 घंटे का दिखाई दे रहा है।

हालांकि दशहरे की छुट्टी होने के कारण भी सड़क पर वाहन कम दिखे जिससे प्रदूषण में कमी दिखाई दी। दिल्ली में अगला कार फ्री डे 22 नवंबर को द्वारका में मनाया जाएगा

India