मीट प्रोसेसिंग कंपनी के डायरेक्टर हैं संगीत सोम

मीट प्रोसेसिंग कंपनी के डायरेक्टर हैं संगीत सोम

नई दिल्‍ली: देश में बीफ पर प्रतिबंध की मांग करने वाले यूपी में भाजपा के फायरब्रांड नेता और जफ्फरनगर दंगों में आरोपी संगीत सोम ने अन्य दो लोगों के साथ मिलकर अलीगढ़ में मीट प्रोसेसिंग यूनिट के लिए 2009 में जमीन खरीदी थी। अंग्रेजी दैनिक हिन्दुस्तान टाइम्स को मिले रजिस्ट्री दस्तावेजों से इस बात का खुलासा हुआ है। 

रजिस्ट्री दस्तावेजों के अनुसार, सोम ने अल दुआ फूड प्रोसेसिंग प्राइवेट लिमिटेड के लिए जमीन खरीदी। सोम अल दुआ फूड प्रोसेसिंग प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर हैं। उनके अलावा मोइनुद्दीन कुरैशी और योगेश रावत भी इस कंपनी के सहडायरेक्टर हैं।

संगीत सोम ने इस बात को स्वीकार किया कि उन्होंने कुछ साल पहले जमीन खरीदी थी लेकिन उन्होंने दावा किया कि कंपनी का डायरेक्टर बनाए जाने के बारे में उनको जानकारी नहीं है। उन्होंने बताया कि उन्होंने जो जमीन खरीदी थी उसे कुछ महीने बाद ही अल दुआ फूड प्रोसेसिंग प्राइवेट लिमिटेड को बेच दी गई। उन्होंने कहा कि जमीन खरीदने का मतलब यह नहीं हुआ कि वह मीट फैक्ट्री लगाने में शामिल हैं। 

संगीत सोम ने कहा कि वह एक कट्टर हिन्दू हैं इसलिए धर्म के विरूद्ध किसी भी तरह की गतिविधियों में शामिल होने की कोई गुंजाइश ही नहीं है। उन्होंने कहा कि मीट कंपनी में अगर उनकी भूमिका साबित हो जाए तो वह राजनीति छोड़ देंगे। 

मीट कंपनी की वेबसाइट के अनुसार, यह हलाल मीट कंपनियों में से अग्रणी है। कंपनी बेहतर क्वालिटी के हलाल भैंस मीट और हलाल भेंड़ तथा बकरा मीट उपलब्ध कराने का दावा करती है। 

India