2002 का गुजरात क्या मंगलराज था?

2002 का गुजरात क्या मंगलराज था?

बिहार में बीजेपी के 'जंगलराज' आरोप पर नीतीश का जवाब 

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि केंद्र सरकार ने बिहार विधानसभा चुनाव को अपनी प्रतिष्ठा से जोड़ लिया है। जनता ने केद्र में सत्ता दे दी, अब चाहते हैं कि पूरे देश में उनकी सत्ता हो जाए। पटना में एक निजी समाचार चैनल के कार्यक्रम में नीतीश ने केंद्रीय मंत्रियों के लगातार बिहार दौरों पर तंज करते हुए कहा कि पिछले छह महीने का दौर देखें तो आप पाएंगे कि कोई दिन ऐसा नहीं गुजरा होगा, जब केंद्र के मंत्री बिहार न आए हों।

लालू प्रसाद के शासनकाल को 'जंगलराज' कहे जाने के एक प्रश्न पर उन्होंने कहा कि बिहार में न आज जंगलराज है और न कल होगा। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने जंगलराज की बात शुरू की थी। बीजेपी के पास कलेजा नहीं है कहीं भी जंगलराज को नियंत्रित करने का। नीतीश ने कहा कि गुजरात में वर्ष 2002 में जो हुआ था, क्या वह मंगलराज था या अभी जो दिल्ली में लगातार अपराधिक घटनाएं हो रही हैं, वह मंगलराज है? उन्होंने दावा किया कि बिहार अपराधिक आंकड़ों के मामले में अन्य कई राज्यों से बहुत पीछे है।

मुख्यमंत्री ने लालू और कांग्रेस के साथ गठबंधन को मजबूरी कहे जाने से इंकार करते हुए कहा कि विपक्ष के मतों के बिखराव को रोकने के लिए दल एक होते रहे हैं। यह कोई पहली बार नहीं हुआ है। नीतीश ने कहा कि देश में पहली बार ऐसी पार्टी को बहुमत मिला है, जिसका स्वतंत्रता की लड़ाई में कोई योगदान नहीं रहा है।