देश इस समय नाजुक दौर से गुजर रहा है:  मौलाना अशहद रशीदी

देश इस समय नाजुक दौर से गुजर रहा है: मौलाना अशहद रशीदी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार ने फिल्म उद्योग को बढ़ावा देने के लिए फिल्म निर्माताओं तथा कलाकारों को तमाम सुविधाएं उपलब्ध कराने की व्यवस्था की है। प्रदेश सरकार ने अपने तीन वर्षों से अधिक के कार्यकाल में अच्छी श्रेणी की  22 फिल्मों को मनोरंजन कर से मुक्त किया है।

मनोरंजन कर विभाग से प्राप्त सूचना के अनुसार वित्तीय वर्ष 2013-14 में हिन्दी फीचर फिल्म कृष्णा और कंस, भाग मिल्खा भाग, टू लिटिल इण्डियनस, डेढ़ इश्किया, जय हो, या रब तथा वित्तीय वर्ष 2014-15 में लोकप्रिय फिल्म-मेरीकाम, मर्दानी, भूतनाथ रिटन्र्स, कटियाबाज, द पावरलेस, पी0के0, तेवर एवं हवाईजादा को मनोरंजन कर से मुक्ति प्रदान की गई है।‘

वित्तीय वर्ष 2015-16 में अब तक जय हो डेमोक्रेसी, हमारी अधूरी कहानी, बजरंगी भाईजान, मिस टनकपुर हाजिर हों, इश्क के परिन्दे, मसान, जाॅनिसार, दृश्यम् एवं मांझी-द-माउण्टेन मैन को कर मुक्त किया जा चुका है।

राज्य सरकार ने विलुप्त मनोरंजन के साधनों जैसे-नाटक, कव्वाली, कवि सम्मेलन, मुशायरा, खेल, स्केटिंग, दंगल, फ्री स्टाइल कुश्ती, सर्कस जिसमें कलाबाजी के करतब भी सम्मिलित है और पांच रु0 तक के वीडियो गेम तथा जादू प्रदर्शन आदि को भी मनोरंजन कर से मुक्त कर दिया है।

Lucknow, Uttar Pradesh, India