विराट के पास श्रीलंका में इतिहास रचने का मौका

विराट के पास श्रीलंका में इतिहास रचने का मौका

कोलंबो। तीसरे टेस्ट मैच के चौथे दिन सोमवार को भारतीय क्रिकेट टीम ने श्रीलंका को जीत के लिए 386 रन का टारगेट दिया है। भारत की दूसरी पारी 274 पर सिमटी। पहली पारी से 112 रन की बढ़त के आधार पर भारत ने मेजबान टीम को बड़ा लक्ष्य दिया। लक्ष्य का पीछा करते हुए श्रीलंका की शुरुआत एक बार फिर खराब रही।चौथे दिन का खेल खत्म होने तक भारत ने श्रीलंका के तीन विकेट झटक लिए थे।

ओपनर उपल थरंगा खाता भी नहीं खोल पाए और जीरो पर इशांत का शिकार बने। इस समय टीम का स्कोर एक रन था। ओपनर कौशल सिल्वा का साथ देने आए दिमुथ करुणारत्ने भी कुछ खास नहीं कर पाए। करुणारत्ने उमेश यादव की गेंद पर कैच आउट हो गए और श्रीलंका का स्कोर 2 रन पर दो विकेट हो गया। श्रीलंका को तीसरा झटका दिनेश चंडीमल के रूप में लगा। चंडीमल को 18 रन के निजी स्कोर पर इशांत शर्मा ने पवैलियन की राह दिखाई। कुमार सिल्वा और कप्तान एंजलो मैथ्यूज खेल रहे हैं। खेल खत्म होने तक टीम का स्कोर 68 रन पर 3 विकेट है।

इससे पहले, भारत ने अपनी पहली पारी के स्कोर 312 रनों के जवाब में श्रीलंका की पहली पारी 201 रनों पर समेट दी थी। तीसरे दिन स्टम्प्स तक भारत ने तीन विकेट पर 21 रन बनाए थे। कप्तान विराट कोहली 21 और रोहित नाबाद लौटे थे। कोहली का विकेट 64 के कुल योग पर गिरा। इसके बाद रोहित ने बिन्नी के सहयोग से पारी को आगे बढ़ाया और पांचवें विकेट के लिए 54 रनों की साझेदारी की।

इसी साझेदारी के दौरान भारत की बढ़त 200 के पार पहुंची। रोहित का विकेट भोजनकाल से ठीक पहले गिरा। रोहित 118 के कुल योग पर आउट हुए। रोहित की विदाई के बाद नमन और बिन्नी ने लंच तक भारत को कोई और नुकसान नहीं होने दिया। श्रीलंका की ओर से नुवान प्रदीप ने 51 रन देकर तीन विकेट लिए हैं जबकि धम्मिका प्रसाद ने 64 रन देकर इतनी ही सफलता हासिल की है। एक विकेट रंगना हेराथ को मिला है।