धोनी-सहवाग ने ख़त्म कर दी मेरी मिस्ट्री

धोनी-सहवाग ने ख़त्म कर दी मेरी मिस्ट्री

कोलंबो। श्रीलंका के मिस्ट्री स्पिनर अजंता मेंडिस ने 2008 से 2011 के दौरान दुनियाभर के क्रिकेटर्स को अपनी गेंदों पर नचाया। 2011 के बाद मेंडिस अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से गायब हो गए और इसमें बड़ा योगदान रहा भारतीय बल्लेबाजों का रहा। खुद अजंता मेंडिस ने एक भारतीय अंग्रेजी अखबार को दिए इंटरव्यू में इसका खुलासा किया।

उन्होंने बताया कि महेन्द्र सिंह धोनी और वीरेन्द्र सहवाग पहले बल्लेबाज थे जो मेरी गेंदों को सही ढंग से खेलना जानते थे। जिन भी बल्लेबाजों को मैंने गेंद डाली उनमें एमएस धोनी मुझे सबसे बढिया तरीके से खेलते थे और ऎसा ही सहवाग करते थे। सहवाग हमें जमने ही नहीं देते थे। आप उनको खराब गेंद नहीं डाल सकते।

अजंता मेंडिस ने 2008 की सीरिज में भारतीय बल्लेबाजों की नींदें उड़ा दी थी। उन्होंने तीन टेस्ट में 26 विकेट लिए थे और मुथैया मुरलीधरन को भी पीछे छोड़ दिया था। उन्होंने कैरम बॉल का ईजाद किया जिसका बाद में बाकी गेंदबाजों ने भी इस्तेमाल किया। एशिया कप में फाइनल में मेंडिस पहली बार भारत के खिलाफ खेले थे और छह विकेट लेकर भारत को सस्ते में समेट दिया। हालांकि इसके बाद भारतीय बल्लेबाजों ने घरेलू सीरिज में मेंडिस का जादू खत्म कर दिया था।