लखनऊ में भी विरोध-प्रदर्शन रैली करेंगे हार्दिक

लखनऊ में भी विरोध-प्रदर्शन रैली करेंगे हार्दिक

नई दिल्ली। गुजरात में पटेल समुदाय के लिए चल रहे आंदोलन को नई दिशा देने के उद्देश्‍य से हार्दिक पटेल आज दिल्ली पहुंचे। हार्दिक पटेल ने मीडिया के साथ बातचीत में कहा, 'हम लोग जंतर-मंतर पर विरोध-प्रदर्शन रैली करने पर विचार कर रहे हैं, हम ऐसा लखनऊ में भी कर सकते हैं।'

गुजरात में प्रदर्शन को मैराथन बताते हुए हार्दिक ने कहा कि अगर हम दिल्ली में समर्थन चाहेंगे तो वह हमें मिलेगा। दिल्ली पहुंचने के बाद हार्दिक पटेल ने कहा था कि हमलोग यहां किसी मंत्री या नेता से मिलने के लिए नहीं आए हैं। उन्होंने कहा कि हम अपने आंदोलन को देश के अन्य राज्यों में भी ले जाना चाहते हैं, इसलिए हम दिल्ली पहुंचे हैं जहां इस आंदोलन के भविष्‍य पर चर्चा की जाएगी। हम जाटों और गुर्जरों को आरक्षण के लिए भी समर्थन देना चाहते हैं।

इधर, गुजरात हाई कोर्ट से सीआइडी जांच के आदेश जारी होने के बाद दो निरीक्षक और एक उपनिरीक्षक समेत नौ पुलिसकर्मियों पर पटेल आरक्षण आंदोलन के दौरान 32 वर्षीय एक व्यक्ति की कथित रूप से हिरासत में मौत को लेकर मामला दर्ज किया गया है। सहायक पुलिस आयुक्त केडी पांड्या ने कहा कि हमने श्वेतांग मौत के मामले में शुक्रवार देर रात बापूनगर के पुलिस निरीक्षक पीडी परमार, आरआर वसावा, एक डी स्टाफ पीएसआइ और डी स्टाफ के छह अन्य पुलिसकर्मियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की।

हालांकि, श्वेतांग के परिवार के वकील ने दावा किया कि प्राथमिकी में हिरासत में कथित रूप से मौत के लिए जिम्मेदार सभी पुलिस अधिकारियों के नाम नहीं हैं। इधर, आंदोलन की अगुवाई कर रहे हार्दिक पटेल ने शनिवार को कहा कि वह कथित रूप से हिरासत में मर गए स्वेतांग पटेल के अंतिम संस्कार में रविवार को शामिल हो सकते हैं और चेतावनी दी कि यदि कुछ हुआ, तो सरकार जिम्मेदार होगी।

मालूम हो कि श्वेतांग को 25 अगस्त को पुलिस कथित रूप से जबरदस्ती पकड़ कर ले गई थी। श्वेतांग की मां प्रभाबेन पटेल की याचिका के अनुसार, उसे पुलिस ने कथित रूप से बुरी तरह पीटा और उसने दम तोड़ दिया। गुजरात हाई कोर्ट ने शुक्रवार को कहा था कि प्रथम दृष्टया यह नरसंहार का मामला है।सारी प्रोपर्टी उसके(इंद्राणी), संजीव और बेटी विधि के बीच ही साझा होगी।

इस बीच खबर है कि शीना का पासपोर्ट मिलने के बाद पीटर मुखर्जी और उनके बेटे राहुल मुखर्जी के बीच बहस हुई थी। शीना बोरा मर्डर केस में इंद्राणी,उसके ड्राइवर श्याम राय और पूर्व पति संजीव खन्ना को गिरफ्तार किया जा चुका है। संजीव खन्ना ने खुलासा किया है कि कार में बैठने से पहले ही शीना की हत्या कर दी गई थी।

शनिवार को मिखाइल बोरा से खार पुलिस स्टेशन में पूछताछ हुई। पूछताछ में पता चला है कि इंद्राणी ने बेटे मिखाइल को मानसिक रूप से बीमार साबित करने के लिए मुंबई के मनोचिकित्सक से झूठा सर्टिफिकेट भी बनवाया था। पुलिस उस मनोचिकित्सक की तलाश कर रही है।