कोलंबो टेस्ट : लोकेश, राहुल की बल्लेबाज़ी से भारत की स्थिति मजबूत

कोलंबो टेस्ट : लोकेश, राहुल की बल्लेबाज़ी से भारत की स्थिति मजबूत

कोलंबो : युवा सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल की शतकीय पारी तथा कप्तान विराट कोहली और रोहित शर्मा के अर्धशतकों की मदद से भारत ने श्रीलंका के खिलाफ दूसरे क्रिकेट टेस्ट के पहले दिन आज छह विकेट पर 319 रन बनाये।

पहले मैच में मिली हार के बाद अपनी गलतियों से सबक लेते हुए भारत के मध्यक्रम के बल्लेबाजों ने इस मैच में बेहतर प्रदर्शन किया । कुमार संगकारा के इस विदाई मैच में राहुल ने 108, कोहली ने 78 और पांचवें नंबर पर उतरे रोहित ने 79 रन का योगदान दिया। भारत ने एक समय 12 रन पर दो विकेट गंवा दिये थे लेकिन राहुल ने कप्तान विराट कोहली के साथ तीसरे विकेट के लिये 164 रन जोड़े। कोहली 107 गेंद में आठ चौकों और एक छक्के की मदद से 78 रन बनाकर आउट हुए।

इससे पहले धम्मिका प्रसाद ने सुबह के सत्र में दो विकेट लेकर भारत को अच्छी शुरूआत से वंचित कर दिया। भारत ने सलामी बल्लेबाज मुरली विजय (0) और अजिंक्य रहाणे (4) के विकेट उस समय गंवा दिये जब स्कोर बोर्ड पर 12 रन टंगे थे। रहाणे तीसरे नंबर पर उतरे जबकि पिछले तीन टेस्ट में रोहित इस क्रम पर उतर रहे थे।

चोट के कारण पहले टेस्ट से बाहर रहे विजय की वापसी अच्छी नहीं रही। वह प्रसाद की चौथी ही गेंद पर पगबाधा आउट हो गए। अजिंक्य रहाणे तीसरे नंबर पर नाकाम रहे और पांचवें ओवर में प्रसाद की गेंद पर तीसरी स्लिप में कैच थमा बैठे। दूसरे छोर पर कोहली आकर्षक स्ट्रोक्स खेल रहे थे और उन्होंने बेहतरीन फुटवर्क का भी नमूना पेश किया। 

लंच के बाद कोहली और राहुल ने पारी को आगे बढ़ाया। कप्तान ने अपना 11वां टेस्ट अर्धशतक 63 गेंद में पूरा किया। भारत के 100 रन भी इसी दौरान 28वें ओवर में बने। ब्रेक के बाद रन रेट बढ़ाने का सिलसिला राहुल ने जारी रखा जबकि कोहली उनका सहयोग कर रहे थे। राहुल ने पहला टेस्ट अर्धशतक 94 गेंद में पूरा किया। दोनों की 100 रन की साझेदारी 29वें ओवर में पूरी हुई।

कोहली ने दुष्मंता चामीरा को दो चौके लगाकर दबाव हटाया और वह आक्रामक खेलने की तैयारी में लग रहे थे। इसी बीच रंगाना हेराथ की गेंद पर एंजेलो मैथ्यूज ने डाइव लगाकर उनका बेहतरीन कैच लपका और उनकी पारी का अंत किया। राहुल ने अपनी पारी में 190 गेंदों का सामना करके 13 चौके और एक छक्का लगाया। वहीं कोहली 12वां टेस्ट शतक लगाने से चूक गए। उन्होंने 107 गेंद की अपनी पारी में आठ चौके और एक छक्का लगाया।

रोहित ने भी 79 रन की पारी खेली लेकिन शतक की ओर बढने के बाद वह आखिर के ओवरों में विकेट गंवा बैठे। खराब फार्म से जूझ रहे रोहित ने हालांकि टीम प्रबंधन के भरोसे पर खरे उतरने की पूरी कोशिश की। गाले में 63 रन से मिली पराजय में वह दोनों पारियों में नाकाम रहे थे जिससे उनकी उपयोगिता पर सवाल उठने लगे थे। 

इससे पहले पहला टेस्ट हारने के 24 घंटे के भीतर स्टुअर्ट बिन्नी को बुलाने का टीम प्रबंधन का दावा भी नहीं चल सका। टीम में एक अदद हरफनमौला की कमी पूरी करने आये बिन्नी ज्यादा देर टिक नहीं सके और 40 गेंद में सिर्फ 10 रन बनाकर पहले मैच में श्रीलंका की जीत के नायक रहे रंगाना हेराथ का शिकार हुए। उनका कैच चामीरा ने लपका और 40 गेंदों की पारी में वह कभी भी सहज नजर नहीं आये। 

पहले दिन रोहित के आउट होने के तुरंत बाद खेल समाप्त करने का ऐलान कर दिया गया। उस समय रिधिमान साहा 19 रन बनाकर खेल रहे थे। श्रीलंका के लिये प्रसाद ने 20 ओवर में 72 रन देकर दो विकेट लिये जबकि हेराथ ने 21 ओवर में 73 रन देकर दो विकेट चटकाये। एंजेलो मैथ्यूज और चामीरा को एक एक विकेट मिला।

भारतीय टीम में आज तीन बदलाव करते हुए घायल शिखर धवन, हरभजन सिंह और वरूण आरोन की जगह मुरली विजय, स्टुअर्ट बिन्नी और उमेश यादव को उतारा। श्रीलंका ने सिर्फ एक बदलाव करते हुए घायल नुवान प्रदीप की जगह चामीरा को उतारा।