शिया, सुन्नियों में कोई आंदोलन का विरोधी नहीं: कल्बे जवाद

शिया, सुन्नियों में कोई आंदोलन का विरोधी नहीं: कल्बे जवाद

लखनऊ: हमने हमेशा मसाएल को बात चीत के जरिए सुलझाने की कोशिश की है इसलिए हमने दिल्ली में मुलायम सिंह यादव से मुलाकात की थी और उन्होंने 14 अगस्त का दिन निर्धारित किया था लेकिन वह अपनी किसी व्यस्तता के कारण लखनऊ नहीं आ सके । जलद ही उनसे मुलाकात होगी, एक या दो दिन के फासले से फर्क नहीं पड़ता, उनसे मुलाकात एक दो दिन में जरूर होगी।  उम्मीद है मसाएल भी हल हो जाएंगे, हम बातचीत के जरिए मसाएल का समाधान निकालना चाहते हैं। अगर बातचीत विफल होती है तो हम उलमा ओर संगठनों से बैठक के बाद आगे की रणनीति प्रक्रिया तय करेंगे । ये बातें मौलाना कल्बे जव्वाद नकवी ने आज अपने एक बयान में कहीं। उन्होंने कहा कि हमारी कौम के युवा फिर जेल भरो  आंदोलन के लिए तैयार हैं । उन्है अत्याचार व हिंसा के द्वारा भयभीत नहीं किया जा सकता .जू जेल से छूट कर आए हैं उनके हौसले अधिक बुलंद हुए हैं।

मौलाना ने कहा कि वक्फ बचाव आंदोलन का विरोध न कोई शिया करता है और न कोई सुनी इस आंदोलन का विरोधी है, आंदोलन का विरोध वह करते हैं जिन लौगांे ने कहीं न कहीं कुछ बेईमानी की होती है । हकोमतो की हमेशा यह साजिश रही है कि शिया सुन्नी एकजुट न हो इसलिए दोनों तरफ के लोगों द्वारा अराजकता फीलायी जाती हे। हमारे साथ एहलेसुन्नत की बड़ी संख्या है । हम जल्द ही हम एहलेसुन्नत  की बड़ी सेख्या के साथ अपने हितों और मुसलमानों के विकास व कल्याण के लिए भव्य सम्मेलन करेगें जिसमें सुन्नी शिया गठबंधन का प्रदर्शन होगा।

मौलाना ने इराक में हुए आतंकवादी हमले की कड़ी निंदा की जिसमें दर्जनों जायरीन मारे गए हैं .मोलाना ने कहा तकफीरी गिरोह मुसलमानों का नरसंहार कर रहा है लोग उसका विरोध करने के बजाय समर्थन कर रहे हे।.लाखों शिया इराक में तकफीरी समुदाय द्वारा मार दिये गये है हम उनकी निंदा करते हैं।

मौलाना ने सभी भारतीय नागरिकों को स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी।

Lucknow, Uttar Pradesh, India