देश को समाजवाद की जरूरत: अखिलेश

देश को समाजवाद की जरूरत: अखिलेश

समाजवादी प्रबुद्ध सभा द्वारा आयोजित समाजवादी सम्मान समारोह सम्पन्न

इंस्टेंटखबर ब्यूरो 

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि देश को समाजवाद की जरूरत है। समाजवादी विचारधारा ही देश को तरक्की और खुशहाली की तरफ ले जा सकती है। समाजवाद ही देश को जोड़ने का काम कर सकता है। इसलिए वर्तमान समय में समाजवादी विचारधारा की उपयोगिता और बढ़ गई है। समाज में जो विषमता है, जो खाई है, वह चाहे जिस रूप में हो, उसे खत्म करने का संघर्ष समाजवाद को ही करना है। 

मुख्यमंत्री आज यहां इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में समाजवादी प्रबुद्ध सभा द्वारा आयोजित समाजवादी सम्मान समारोह के अवसर पर अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। यह सम्मान समारोह देश में समाजवादी आन्दोलन में संघर्ष करने वाले वरिष्ठ समाजवादियों का सम्मान करने के लिए आयोजित किया गया था। इस अवसर पर प्रदेश तथा अन्य प्रदेशों से आये वरिष्ठ समाजवादियों को सम्मानित किया गया। उन्होंने कहा कि यहां ऐसे अनेक समाजवादी उपस्थित हैं जिन्होंने अपना पूरा जीवन गैर बराबरी, अन्याय और शोषण के विरुद्ध संघर्ष करने में गुजार दिया है। 

श्री यादव ने कहा कि यद्यपि नेताजी मुलायम सिंह यादव संसद का सत्र चलने के कारण इस कार्यक्रम में नहीं आ पाये। लेकिन उनकी बड़ी इच्छा थी कि संघर्ष के दिनों के साथियों का सम्मान किया जाये। इस अवसर पर पधारे वरिष्ठ समाजवादियों का स्वागत कर, उनके संघर्ष, त्याग और बलिदान की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि समाजवादी सरकार उनके दिखाये गये रास्ते पर ही चल रही है। प्रदेश में समाजवादी सरकार के बनने में नौजवानों के साथ-साथ वरिष्ठ समाजवादियों के संघर्ष का भी बड़ा योगदान है। राज्य में समाजवादियों ने जो लड़ाई लड़ी है उसे अन्य प्रदेशों में भी ले जाने की जरूरत है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि समाजवादियों को सोचना पड़ेगा कि गांव, गरीब और किसान कैसे खुशहाल हों। जाति और धर्म की लड़ाइयां किस प्रकार खत्म की जायें। समाजवादियों को साम्प्रदायिक ताकतों से सावधान रहते हुए जनता को उनके प्रति सचेत करना पड़ेगा। आर्थिक उदारीकरण के चलते जो बदलाव हो रहा है उसके मद्देनजर समाजवादियों का संघर्ष कठिन है। इस व्यवस्था से शहरों की तस्वीर तो कुछ बदली है, कुछ गांव भी शहर जैसे दिखने लगे हैं। लेकिन कोई व्यापक बदलाव नहीं हुआ है। ऐसी ताकतें भी हैं, जो भटकाव पैदा करती हैं। इसलिए देश को समाजवाद की जरूरत है क्योंकि देश में खुशहाली केवल समाजवादी रास्ते पर चलकर ही लायी जा सकती है।

श्री यादव ने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश के चहुंमुखी विकास के लिए लगातार फैसले लेकर जनता के लिए सुविधाएं बढ़ाने का काम किया है। बुनियादी सुविधाओं को बेहतर करके विकास की गति तेज करके गरीबांे, किसानों, मज़दूरों, महिलाओं, अल्पसंख्यकों, नौजवानों आदि सभी वर्गों तक विकास का लाभ पहुंचाने के साथ ही, कार्यक्रमों के संचालन में आधुनिक, प्रभावी एवं पारदर्शी तरीके अपनाने का हर सम्भव प्रयास किया जा रहा है। प्रदेश सरकार सभी वर्गों के लिए बिना किसी भेद-भाव के योजनाएं संचालित की हैं। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की समाजवादी सरकार अपनी योजनाओं और कार्यक्रमों के माध्यम से राज्य के ठोस विकास का काम कर रही है। राज्य सरकार अपने संसाधनों से समाजवादी पेंशन योजना संचालित कर रही है। प्रदेश के 45 लाख गरीब परिवारों को इस योजना से लाभान्वित किया जा रहा है। इसके तहत, परिवार की महिला मुखिया के खाते में 500 रुपये की धनराशि बतौर पेंशन भेजी जाती है। 500 रुपये की धनराशि बहुत सारे लोगों के लिए थोड़ी हो सकती है लेकिन जिसके पास कुछ नहीं है उसके लिए 500 रुपये भी बहुत है। समाजवादी मानते हैं कि महिला चाहे जिस वर्ग या जाति की हो पिछड़ी है। इस योजना से महिलाओं को भी सम्मान मिल रहा है। यह योजना इतनी बड़ी और व्यापक है कि कोई भी सरकार इसे खत्म नहीं कर सकती। 

श्री यादव ने कहा कि डाॅ0 राम मनोहर लोहिया जी कहा करते थे कि इंसान को इंसान को नहीं खींचना चाहिए। इसी को ध्यान में रखकर राज्य सरकार ने सभी रिक्शा चालकों को मोटर रिक्शा दिलाने का काम शुरु किया है। लैपटाॅप वितरण को मुश्किल काम माना जाता था। समाजवादी सरकार ने न केवल लैपटाॅप वितरण कराया बल्कि ऐसे लैपटाॅप वितरित किए जो हिन्दी और उर्दू में भी चलाए जा सकते हैं। क्योंकि समाजवादी भारतीय भाषाओं को सम्मान देने के पक्ष में हैं। लैपटाॅप वितरण ने गांव के लोगों का कम्प्यूटर से डर दूर करने का काम किया है। समाजवादी सरकार ने ‘108’ समाजवादी स्वास्थ्य सेवा एवं ‘102’ नेशनल एम्बुलेन्स सर्विस संचालित कर रही है। यह सेवाएं जनता के लिए बहुत उपयोगी साबित हो रही हैं, जबकि पिछली सरकार यह सेवा संचालित नहीं कर पायी। चिकित्सा के क्षेत्र में व्यापक सुधार किए हैं। चिकित्सकों की कमी को दूर करने और प्रदेशवासियों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करायी गयी हैं। सरकारी अस्पतालों में मरीजों को मुत दवाई के साथ-साथ निःशुल्क पैथोलाॅजी जांच व एक्स-रे की सुविधा भी दी जा रही है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि समाजवादी सरकार ने शहरों और गांवों दोनों जगहों पर बेहतर काम किया है। जमीन का अधिग्रहण किसान की सहमति से बिना किसी विवाद के करके प्रदेश सरकार ने एक उदाहरण उपस्थित किया है। देश की सबसे लम्बी आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे परियोजना जिसका निर्माण राज्य सरकार अपने वित्तीय संसाधनों से करा रही है, प्रदेश की राजधानी को देश की राजधानी से जोड़ेगी, इससे प्रदेश में बढ़ने वाली आर्थिक गतिविधियों का लाभ किसानों और व्यापारियों को मिलेगा। राज्य सरकार एक्सप्रेस-वे के साथ फल, दूध, अनाज आदि मण्डियों की स्थापना भी करने जा रही है, जिसका सीधा लाभ प्रदेश के किसानों को मिलेगा। इस एक्सप्रेस-वे को अब आजमगढ़ होते हुए बलिया तक बनाया जाने का फैसला राज्य सरकार ने लिया है। लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना का काम भी तेजी से चल रहा है। 

कार्यक्रम को विधान सभा अध्यक्ष माता प्रसाद पाण्डेय, कैबिनेट मंत्री एवं समाजवादी प्रबुद्ध सभा के अध्यक्ष मनोज कुमार पाण्डेय, कैबिनेट मंत्री अहमद हसन, पूर्व केन्द्रीय मंत्री रामजी लाल सुमन, पूर्व मंत्री भगवती सिंह, वरिष्ठ पत्रकार  के0विक्रम राव सहित कई वरिष्ठ समाजवादियों ने सम्बोधित किया। 

Lucknow, Uttar Pradesh, India