हमें कुचलने की राजनीति की जा रही है

हमें कुचलने की राजनीति की जा रही है

उलेमाओं के साथ मौलाना कल्बे जवाद ने दी गिरफ्तारी 

लखनऊ: शिया वक्फ बोर्ड में फैले भ्रष्टाचार, सरकार के अन्याय, शिया जनता और उलमा पर जानलेवा हमलों के खिलाफ आज शाम 6 बजे मौलाना सैयद कल्बे जव्वाद नकवी ने चार आलिमों के साथ शाही मस्जिद हजरत गंज से अपनी गिरफ्तारी  पेश की ।मौलाना अपने तय कार्यक्रम के अनुसार पांच बजे अपने घर से आलिमों के साथ निकले जहां पहले से ही भारी संख्या में जनता जमा थी लेकिन मौलाना ने घोषणा काी  थी कि यह गिरफ्तारियां  केवल उलमा देंगे जनता नही देगी ।5 बजे मौलाना कार द्वारा शाही मस्जिद पहुंचे जहां उन्होंने मजलिस को संबोधित किया और जनता से शांति कायम रखने की अपील की ।पत्रकारांे को संबोधित करते हुए मौलाना सैयद कल्बे जव्वाद नकवी ने कहा कि अगर सरकार हमें लिखकर दे दे कि शिया समुदाय की मांगंे अवैध हैं और वक्फ बोर्ड की सीबीआई जांच की मांग करना गलत है तो हम आंदोलन बन्द कर देंगे । उन्होंने कहा कि क्या सीबीआई जांच की मांग करना गलत है? किस अपराध में महिलाओं, बच्चों और युवाओं पर पुलिस ने जानलेवा हमला किया , ढूंढ ढूंढ कर जवानों को मारा और शरण सुन्नियों और हिंदुओं ने दी, तीन जवान अब तक लापता है जनकी कोई खबर नहीं हे। उलमा को मारा गया। 

मौलाना  ने कहा कि 27 जुलाई को कई विरोध प्रदर्शन थे लेकिन किसी के लिए धारा 144 लागू नहीं की गई छोड़कर शिया समुदाय के इससे अनुमान होता है कि शिया समुदाय पर कैसे अत्याचार किया जा रहा है और कितनी हमें दबाने और कुचलने की राजनीति की जा रही है ।

मोलाना ने कहा यह सरकार खुद को अल्पसंख्यकों का समर्थक कहती है लेकिन इसी सरकार में सबसे अधिक अल्पसंख्यकों पर जुल्म हो रहा है जब तक सीबीआई जांच नहीं होती हमारा विरोध जारी रहीगा.मोलाना ने कहा कि यदि आज जेल नहीं भेजा गया तो कल फिर गिरफ्तारी देंगे .मोलाना ने शिया समुदाय से अपील की वे हर रोज रात ग्यारह बजे छतों से मातम और अत्याचार के खिलाफ आवाज उठाते रहें हम इमामे जमाना संपत्ति की सुरक्षा के लिए जेल जा रहे हैं ।मोलाना ने कहा कि उसकी जांच होनी चाहिए कि पुलिस ने प्रदर्शनकारियों के सिर पर लाठी हूँ क्यों मारें और महिलाओं और बच्चों के साथ बर्बरता का व्यवहार किया किया गया।

मौलाना कल्बे जव्वाद नकवी के साथ मौलाना इफ्तिखार हुसैन, मौलाना फीरोज हुसैन, मौलाना रजा हुसेन और मौलाना अली अब्बास खान ने गिरफ्तारी दी।

Lucknow, Uttar Pradesh, India