यूपी में भारी बारिश ने लीं कई जानें

यूपी में भारी बारिश ने लीं कई जानें

तेज़ी से बढ़ा नदियों का पानी,  प्रशासन ने अलर्ट घोषित किया 

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के कई जिलों में शनिवार को भी जमकर हुई बारिश का लोगों ने जहां आनंद उठाया वहीं, कई लोगों को दुश्वारियों का सामना करना पड़ा। कारण शहरों में भीषण जलभराव रहा। उधर, बरसात से उफनाती नदियों में बाढ़ का खतरा बढ़ता जा रहा है। तटवर्तीय इलाके के लोग दहशत में है। कई जिलों में प्रशासन ने अलर्ट घोषित कर दिया है। इस दौरान घर गिरने व अन्य हादसों में पांच लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी और दर्जन भर लोग घायल हो गए हैं। बलिया, बहराइच, मऊ, सीतापुर, गोंडा व एटा, कासगंज, बलिया में गंगा, बाराबंकी में घाघरा, श्रावस्ती में राप्ती और बहराइच में सरयू नदी का पानी तेजी बढऩे लगा है। मुरादाबाद के आसपास के इलाकों में रामगंगा का जलस्तर बढऩे से बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं। रामगंगा ने करनपुर मार्ग को तीन सौ मीटर से ज्यादा काट दिया है। ढेला और कोसी का जलस्तर भी लगातार बढ़ रहा है। सहारनपुर में कई स्थानों पर किसानों की सैकड़ों बीघा भूमि कटाव में बह गई। प्रशासन ने तटीय गांवों को अलर्ट कर दिया गया है।

बारिश से कई शहर तालाब से दिखने लगे है। सड़कों पर गंदा पानी एवं कीचड़ जमा होने और नालों के उफनाने से दिन भर लोग निकायों को कोसते हुए जैसे-तैसे निकलते रहे। बागपत जिला तो तरणताल की तरह दिख रहा। जबर्दस्त जल भराव से वाहन रेंगते रहे। रोजमर्रा के काम ठप हो गए। सरूरपुर गांव में हाइवे नदी में तब्दील हो गया। लखनऊ में जमकर हुई बारिश से कई इलाकों में पानी भरा रहा। वाराणसी में चौतरफा जलजमाव ने लोगों का सड़क पर चलना दूभर कर दिया। मथुरा की कई कालोनियां जल मग्न हो गई। बुलंदशहर में 30 घंटे से अधिक की बरसात से सड़कें पानी में डूब गई हैं। कन्नौज के एक मोहल्ला में पानी भरने से लोगों ने नगर पालिका के खिलाफ आक्रोश व्यक्त कर जीटी रोड जाम कर दिया।

लखनऊ में मौसम विभाग के अनुसार रविवार को भी बारिश का सिलसिला जारी रहेगा। मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता के अनुसार रविवार को भी मौसम लगभग ऐसा ही बना रहेगा। सोमवार को कुछ राहत मिल सकती है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कुछ स्थानों पर भारी बारिश का अनुमान है। पूर्वी उत्तर प्रदेश में भी कुछ स्थानों पर अच्छी बारिश होगी।

मऊ के असलपुर गांव में कच्चे मकान की दीवार ढहने से रामसकल ङ्क्षसह की दबकर मौत हो गई। सलाहाबाद में वज्रपात से धैर्यमणि देवी गंभीर रूप से झुलस गईं। आजमगढ़ के निजामाबाद स्थित कोल्हपुर निवासी शोभनाथ तमसा नदी में डूबने से मौत हो गई। चंदौली के जिगना गांव में सुबह पानी से भरे गड्ढे में डूबने से एक बालक ने दम तोड़ दिया। मीरजापुर में खुटहा गांव में बरसाती पानी में डूबने से सुषमा की मौत हो गई। जौनपुर के उदईपुर गांव में कच्चा मकान ढहने से रामकिशुन नाविक की मौत हो गई जबकि उनकी पत्नी सकुना देवी गंभीर रूप से घायल हो गई।

Lucknow, Uttar Pradesh, India