'बजरंगी भाईजान' के खिलाफहाईकोर्ट में याचिका

'बजरंगी भाईजान' के खिलाफहाईकोर्ट में याचिका

लखनऊ। यशराज फिल्म के बैनर तले रही कबीर खान द्वारा निर्देशित फिल्म 'बजरंगी भाईजान' फिल्म में हिन्दू धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाले अंश हटाने के लिए इलाहाबाद हाईकोर्ट में जनहित याचिका दाखिल की गई है। यह याचिका चित्रकूट के सामाजिक कार्यकर्ता अनिल प्रधान ने दाखिल की है। याचिका की सुनवाई नौ जुलाई को संभावित है।

याचिका में कहा गया है कि फिल्म निदेशक कबीर खान ने जानबूझकर भगवान हनुमान को अपमानित करने के लिए फिल्म का नाम बजरंगी भाईजान रखा है। भाईजान स्वयं में आपत्तिजनक है। फिल्म की शूटिंग की शुरुआत छह नवम्बर 2014 को जामा मस्जिद नई दिल्ली से हुई है। वानर के मुखौटे लगाए कलाकारों और हीरो सलमान खान को बजरंग बली हनुमान की मूर्ति के साथ नाचते हुए दिखाया गया है। नृत्य आपत्तिजनक मुद्रा में है जिससे हिन्दू धार्मिक आस्था को चोट पहुंचाई गई है। फिल्म प्रदर्शित होने से दो धार्मिक समुदायों के बीच वैमनस्य बढ़ेगा। फिल्म जानबूझकर ईद के मौके पर रिलीज की जा रही है। सेंसर बोर्ड ने नियमों की अनदेखी करते हुए प्रसारण की छूट देकर अवैध कृत्य किया है। याचिका में भारत संघ सूचना प्रसारण मंत्रालय के सचिव, सेंसर बोर्ड मुंबई का मुख्य अधिशासी अधिकारी, निर्माता आदित्य चोपड़ा, कबीर खान निर्देशक तथा अभिनेता सलमान खान को पक्षकार बनाया गया है।