इस बांग्लादेशी बल्लेबाज़ के आगे बेदम हुई भारत की धुरंधर बल्लेबाज़ी

इस बांग्लादेशी बल्लेबाज़ के आगे बेदम हुई भारत की धुरंधर बल्लेबाज़ी

नई दिल्ली: मीरपुर में अपना पहला वनडे मैच खेल रहे 19 साल के मुस्ताफिजुर रहमान ने अकेले दम पर टीम इंडिया को हरा दिया। 9.2 ओवरों की गेंदबाज़ी में रहमान ने 50 रन देकर भारत के पांच विकेट चटकाए। इसमें रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे और सुरेश रैना जैसे दमदार बल्लेबाज़ों के विकेट शामिल थे।

करीब 5 फ़ीट 11 इंच की लंबाई और दुबली पतली कद काठी वाले मुस्ताफिजुर गुरुवार से पहले किसी आम बांग्लादेशी नौजवान की तरह ही थे, लेकिन मीरपुर वनडे के बाद वे बांग्लादेश के सुपरस्टार बनकर उभरे हैं। इस बाएं हाथ के इस तेज गेंदबाज़ की ऑफ़ कटर गेंदों के सामने भारत के दिग्गज बल्लेबाज़ पस्त नजर आए।

मुस्ताफिज़ुर ने सबसे पहले रोहित शर्मा को पवेलियन भेजा, उस बल्लेबाजज को जो अपने दम पर मैच का नक्शा पलट सकता था। इसके बाद रहाणे को उन्होंने अपनी धीमी गति का शिकार बनाया।

मुस्ताफिजुर ने अपने पहले ही मैच में ये भी दिखाया कि उनका अपनी गेंदबाज़ी के लाइन-लेंथ पर किस कदर नियंत्रण हैं। सुरेश रैना और रविंद्र जडेजा जब विकेट पर जम गए थे और 54 रन की साझेदारी निभा चुके थे, तब रैना ने 37वें ओवर की पहली ही गेंद पर मुस्ताफिजुर की गेंद पर जोरदार छक्का लगाया। तीसरी गेंद पर मुस्ताफिज़ुर ने जोरदार वापसी करते हुए उन्हें क्लीन बोल्ड किया और अगली ही गेंद पर आर. अश्विन को पवेलियन भेज दिया।

इसके बाद रविंद्र जडेजा को आउट कर मुस्ताफिजुर ने अपना पांचवां विकेट चटकाया। टीम इंडिया के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भी माना कि बांग्लादेशी तेज गेंदबाज़ों को ये मालूम था कि किस लैंथ की गेंदबाज़ी करनी है।

मुस्ताफिजुर रहमान बांग्लादेश की ओर से डेब्यू वनडे में पांच विकेट चटकाने वाले महज दूसरे गेंदबाज़ हैं। उनसे पहले भारत के ही खिलाफ मीरपुर में 17 जून, 2014 में तस्कीन अहमद ने 28 रन देकर पांच विकेट लिए थे।

गुरुवार को भारतीय पारी को पहला झटका तस्कीन अहमद ने ही दिया, पहले उन्होंने शिखर धवन को आउट कर मज़ूबती की ओर बढ़ रही सालामी साझेदारी को तोड़ा और उसके बाद विराट कोहली को पवेलियन भेजकर टीम इंडिया को बैकफुट पर ला दिया।

तस्कीन अहमद ने जो शुरुआत की, उसे अंजाम तक मुस्ताफिजुर रहमान ने पहुंचाया। शानदार गेंदबाज़ी के चलते उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया। अपने डेब्यू वनडे में मैन ऑफ द मैच बनने वाले मुस्ताफिजुर, सोहाग गाजी और ताइजुल इस्लाम के बाद महज तीसरे बांग्लादेशी खिलाड़ी हैं।