मुस्लिम बच्चों के भविष्य के बारे में गंभीरता से सोचना होगा: मौलाना  रज्जाकी

मुस्लिम बच्चों के भविष्य के बारे में गंभीरता से सोचना होगा: मौलाना रज्जाकी

साहिबाबाद। एक आंकड़े के अनुसार मुस्लिम समुदाय के बच्चे मात्र 6 प्रतिशत ही इस्लामि मदरसों में शिक्षा प्राप्त कर रहे है बाकी 94 प्रतिशत मुस्लिम बच्चों के भविष्य के विषय में हमें गंभीरता से सोचना होगा ये बातें आॅल इन्डिया उलेमा कोनसिल के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना एज़ाज अहमद खान रज्जाकी ने शहीद नगर में मदरसा अनवारूल उलुम के तत्वधान में आयोजित जलसे में कही।  

मुख्य अतिथि के रूप में मौलाना एज़ाज अहमद खान रज्जाकी ने आगे कहा कि हमें अपने बच्चों की शिक्षा पर विषेश ध्यान देना होगा। जलसे की अध्यक्षता मुफती मो0 अहमद ने किया और और मुफती उस्मान कासमी, मौलाना खलील कासमी ने जलसे को संबोधित किया तथा मंच का संचालन कारी अनवर जामेई ने किया।  जलसे में मदरसे के पढे हुए 5 हाफिजों के सिर पर पगडी बांधी गयी।  इस अवसर पर मौलानाफुरकान,मौलाना शमशाद,मौलाना नौशाद आलम कासमी,मौलाना मुस्तफा कासमी, मौलाना मो0 सलीम,मो0 इस्लामुद्दिन,नासिर अलवी,जुलफिकार अंसारी,मुसा अलवी, हारून अलवी, के अलावा सैकडों लोग उपस्थि थे।

Uttar Pradesh, India