स्टार्क और गेल  दिलाई डेयरडेविल्स पर आरसीबी को बड़ी जीत

स्टार्क और गेल दिलाई डेयरडेविल्स पर आरसीबी को बड़ी जीत

नई दिल्ली : मिशेल स्टार्क की अगुवाई में गेंदबाजों के बेजोड़ प्रदर्शन और बाद में क्रिस गेल की तूफानी पारी से रायल चैलेंजर्स बेंगलूर ने दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ अपना प्रभुत्व कायम रखते हुए आईपीएल आठ में आज यहां 57 गेंद शेष रहते हुए दस विकेट की धमाकेदार जीत दर्ज की। पिछले मैच में मुंबई इंडियन्स को हराकर फिरोजशाह कोटला में दो साल बाद पहली जीत दर्ज करने वाली डेयरडेविल्स के बल्लेबाज आरसीबी की कसी हुई और धारदार गेंदबाजी के सामने बेहद सामान्य नजर आये और उसकी पूरी टीम 18.2 ओवर में 95 रन पर ढेर हो गयी।

उसके केवल तीन बल्लेबाज दोहरे अंक में पहुंचे जिनमें धीरज जाधव ने टीम की तरफ से सर्वाधिक 33 रन बनाये। आरसीबी के लिये स्टार्क ने 30 रन देकर तीन जबकि आरोन और वीज ने दो - दो विकेट लिये। गेल ने इसके बाद अपने असली तेवर दिखाये और केवल 40 गेंदों पर नाबाद 62 रन ठोक दिये जिसमें छह चौके और चार गगनदायी छक्के शामिल हैं। उनके साथ दूसरे छोर पर खड़े कप्तान विराट कोहली ने 23 गेंद पर नाबाद 35 रन बनाये। आरसीबी ने केवल 10.3 ओवर में बिना किसी नुकसान के 99 रन बनाकर अपनी सबसे बड़ी जीत दर्ज की।

डेयरडेविल्स की यह आरसीबी के हाथों लगातार आठवीं हार है। आरसीबी ने दूसरी बार किसी टीम को दस विकेट से हराया। इससे पहले उसने 2010 में राजस्थान रायल्स को इसी अंतर से हराया थ। यह आरसीबी की छठे मैच में तीसरी जीत है जिससे उसके छह अंक हो गये हैं। डेयरडेविल्स को सातवें मैच में चौथी हार का सामना करना पड़ा है। इसी मैदान पर आईपीएल में शतक जड़ चुके गेल ने डेयरडेविल्स के आक्रमण की फिर से खिल्ली उड़ायी। पिछले कुछ मैचों में अपेक्षित प्रदर्शन नहीं कर पाने वाले बायें हाथ का यह बल्लेबाज अपनी टीम को जल्द से जल्द जीत दिलाने के मूड में दिखा।

गेल इसके बाद भी दर्शकों और अपने साथी बल्लेबाज कोहली का भरपूर मनोरंजन करते रहे। उन्होंने मिश्रा की गेंद उनके सिर के उपर से छह रन के लिये भेजी। कोहली ने आखिर में कूल्टर नाइल पर लगातार दो चौके लगाये जिसमें विजयी चौका भी शमिल है।

इससे पहले कोहली और जेपी डुमिनी दोनों पहले बल्लेबाजी नहीं करना चाहते थे और पहले बल्लेबाजी का न्यौता पाने वाले डेयरडेविल्स की शुरूआत देखकर जाहिर भी हो गया कि आखिर वे पहले गेंदबाजी करने की तमन्ना क्यों रखे हुए थे। दिल्ली के चोटी के चार बल्लेबाज सातवें और 39 रन तक पवेलियन में विराजमान थे और टीम बुरी तरह भंवर में फंस चुकी थी। स्टार्क ने श्रेयास अय्यर को पहले ओवर में ही पगबाधा आउट करके शुरूआत की जिन्होंने पिछले मैच में 83 रन बनाये। डुमिनी (13) ने मयंक अग्रवाल (34 गेंद पर 27 रन) के साथ मिलकर टीम को इस झटके से उबारने के लिये कुछ समय तक अच्छा प्रयास किया लेकिन अचानक ही सात गेंद और तीन गेंद के अंदर तीन विकेट गंवाने से डेयरडेविल्स बैकफुट पर पहुंच गये।

वीज की गेंद पर डुमिनी सही तरह से लाइन में आकर स्लैश नहीं कर पाये। गेंद ने बल्ले का निचला किनारा लिया और बाकी काम विकेटकीपर दिनेश कार्तिक ने पूरा कर दिया। आरोन ने अपने दूसरे ओवर में 13 रन लुटाये थे जिसमें अग्रवाल का छक्का भी शामिल है। इस तेज गेंदबाज का अगला ओवर हालांकि उतना ही खतरनाक साबित हुआ और युवराज सिंह ( 2 ) की खराब फार्म बनी रही।

आरोन की 146 किमी की रफ्तार से की गयी अतिरिक्त उछाल वाली गेंद को युवराज समझ पाते इससे पहले वह उनके बल्ले का किनारा लेकर कार्तिक के दस्तानों में समा गयी। एंजेलो मैथ्यूज ( शून्य ) ने अगली गेंद हवा में खेल दी जो एबी डिविलियर्स के सुरक्षित हाथों में समा गयी। दिल्ली का धुर समर्थक वर्ग सन्न था लेकिन कोहली के चाहने वालों की भी कमी नहीं थी। आखिर यह उनका अपना शहर और अपना घरेलू मैदान है। अग्रवाल और जाधव ने अगले लगभग छह ओवर तक विकेट नहीं गिरने दिया लेकिन इस बीच आरसीबी की कसी हुई गेंदबाजी के सामने उनके लिये रन बनाना आसान भी नहीं रहा। दर्शकों का जोश ठंडा पड़ता जा रहा था। कोहली ने ऐसे में बायें हाथ के स्पिनर इकबाल अब्दुल्ला का छोर बदलकर उन्हें अंबेडकर स्टेडियम छोर से बुलाया। अग्रवाल ने उनकी टर्न लेती गेंद पर चूक की और स्टंप आउट होकर पवेलियन लौटे।

विकेट गिरने का क्रम फिर शुरू हो चुका थ। नाथन कूल्टर नाइल : 4 : आउट होने वाले अगले बल्लेबाज थे जिन्हें वीज ने पगबाधा किया। डेयरडेविल्स ने अभी फिरोजशाह कोटला पर अपना पिछला न्यूनतम स्कोर (83 )रन को पार ही किया था कि स्टार्क ने अमित मिश्रा (2) का आफ स्टंप हिला दिया। जाधव के आउट होते ही डेयरडेविल्स की तिहरे अंक में पहुंचने की उम्मीद भी खत्म हो गयी।