जैन मॉर्गन के शूटिंग रेंज में मुसलमानों के प्रवेश पर है पाबंदी

जैन मॉर्गन के शूटिंग रेंज में मुसलमानों के प्रवेश पर है पाबंदी

वॉशिंगटन। अमरीकी राज्य अरकंसा में इन दिनों जस्टिस विभाग का सिविल राइट्स डिविजन इन दिनों एक ऐसे गन रेंज पर नजर रखने की तैयारी कर रहा है, जहां मुसलमानों का आना मना है। दरअसल हॉट स्प्रिंग्स स्थित इस गन केव शूटिंग रेंज की मालकिन ने पिछले साल सितंबर में इसे "मुस्लिम-फ्री जोन" घोषित किया था। इस जोन की मालकिन जैन मॉर्गन के बारे में पिछले साल काउंसिल ऑन अमेरिकन-इस्लामिक रिलेशंस (CAIR) ने जस्टिस डिपार्टमेंट को लिखा था।

काउंसिल ने कहा था कि "मुसलमानों को बिजनेस की किसी जगह पर बैन करना अमरीका के फेडरल लॉ का उल्लंघन है जिसमें कहा गया है कि किसी से भी नसलीय व धार्मिक आधार पर भेदभाव नहीं किया जा सकता। उधर गन रेंज की मालकिन मॉर्गन ने सितंबर में लिखा था कि वह किसी भी ऐसे व्यक्ति को बंदूक या अन्य हथियार नहीं बेचेंगी और ना ही किराए पर देंगी, जिसके धर्म में उसे उनकी जान लेने का आदेश दिया गया हो।

सीआईएआर और एसलएलयू के मुताबिक मॉर्गन की "मुस्लिम-फ्री" पॉलिसी 1964 के फेडरल सिविल राइट्स एक्ट का उल्लंघन करती है। वहीं मॉर्गन इस बात से इंकार करती है। मॉर्गन का कहना है कि गन केव शूटिंग रेंज एक निजी क्लब के तौर पर चलाया जाता है और उनको ऐसे  ग्राहकों को बाहर का रास्ता दिखाने का पूरा अधिकार है, जिनसे उन्हें खतरा महसूस होता है।