सिडनी सिंड्रोम का शिकार हुआ भारत

सिडनी सिंड्रोम का शिकार हुआ भारत

ऑस्ट्रेलिया खेलेगा फाइनल, दोनी सेना को 95 रनों से हराया 

सिडनी। वर्ल्ड कप 2015 के दूसरे सेमीफाइनल मैच में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 95 रन से हराकर फाइनल में जगह बना ली है। 329 रन का पीछा करते हुए भारतीय टीम 46.5 ओवर में 233 रन पर सिमट गई। ऑस्ट्रेलिया ने मैन ऑफ द मैच स्टीवन स्मिथ(105) और आरोन फिंच (81) की पारियों के बूते निर्घारित 50 ओवर में सात विकेट खोकर 328 रन बनाए। भारत की ओर से उमेश यादव ने सबसे ज्यादा चार विकेट लिए। इसी के साथ ऑस्ट्रेलिया का सेमीफाइनल में जीत का सिलसिला बरकरार रहा।

रोहित शर्मा और शिखर धवन ने भारत को अच्छी शुरूआत दिलाई और पहले विकेट के लिए 76 रन जोड़े। इस दौरान धवन काफी आक्रा मक नजर आए। उन्होंने फॉक्नर को निशाने पर लेते हुए रनगति को बढ़ाया। जॉस हेजलवुड की गेंद को उड़ाने के फेर में वे मैक्सवेल को कैच थमा बैठे। इसके बाद आए विराट कोहली तो पूरी तरह बैरंग नजर आए और 13 गेंद खेलकर मिचेल जॉनसन के शिकार बने। कुछ देर बाद ही जॉनसन ने रोहित शर्मा को भी वापिस भेज दिया। रोहित ने 34 रन बनाए। सुरेश रैना ने भी निराश किया और सात रन बनाकर फॉक्नर के शिकार बने। 

टॉप ऑर्डर के ध्वस्त होने के बाद भारतीय टीम उबर ही नहीं पाई। धोनी और रहाणे ने पांचवें विकेट के लिए 70 रन जोड़े लेकिन रनगति नही बढ़ा पाए। इसके चलते दबाव बनता गया और इसीके चलते रहाणे 44 रन पर आउट हो गए। धोनी भी कमाल नहीं दिखा पाए और 65 रन बनाकर पवैलियन लौट गए। जेम्स फॉक्नर ने सबसे ज्यादा तीन विकेट झटके।

उमेश यादव ने डेविड वार्नर को विराट कोहली के हाथों कैच कराया। वे केवल 12 रन बना पाए। इसके बाद आए स्मिथ ने फिंच के साथ पारी को संभाला। स्मिथ ने रन गति को बढ़ाया जबकि फिंच ने पारी संभालने की भूमिका निभाई। दोनों के बीच 182 रन की साझेदारी हुई। स्मिथ ने 89 गेंद में शतक उड़ाया। वे 11 चौके और दो छक्कों की मदद से 105 रन बनाकर दूसरे विकेट के रूप में आउट हुए। उन्होंने आरोन फिंच के साथ 182 रन की साझेदारी की।

स्मिथ के जाने के बाद भारतीय गेंदबाजों ने वापसी करते हुए दो विकेट और झटक लिए। अश्विन ने मैक्सवेल को और उमेश यादव ने आरोन फिंच को वापिस भेजा। मैक्सवेल 23 और फिंच 81 रन बनाकर वापिस लौटे। कप्तान माइकल क्लार्क भी 10 रन बनाकर मोहित शर्मा की गेंद पर लपके गए। हालांकि अंतिम ओवर्स में शेन वाटसन(28) और जेम्स फॉक्नर(21) की तेज पारियों के बूते ऑस्ट्रेलिया 300 का स्कोर पार करने में कामयाब रहा। मोहित शर्मा ने सबसे ज्यादा 75 रन लुटाए।