सरकार नहीं चेती तो उठाएंगे कड़ा क़दम: दिलीप चौहान’

सरकार नहीं चेती तो उठाएंगे कड़ा क़दम: दिलीप चौहान’

’वेतन समझौते हेतु बैंककर्मियों का जोरदार प्रदर्शन’

लखनऊ। यूनाइटेड फोरम आफ बैंक यूनियन्स के बैनर तले आज सायं बैंक आफ इंडिया जोनल ऑफिस गोमतीनगर में सैकड़ो बैंककर्मियों ने पिछले तीन वर्षो से लम्बित वेतन समझौता न किये जाने के विरोध में दूसरे चरण में विशाल प्रदर्शन एवं सभा की।

सभा को सम्बोधित करते हुये काम. दिलीप चौहान, महासचिव, आईबाॅक ने बताया कि केन्द्र सरकार तथा आईबीए दो दिवसीय देशव्यापी हड़ताल के बाद अभी भी अपनी हठधर्मिता पर अड़ा हुआ है अतः मार्च 11 से 13 को हम तीन दिवसीय हड़ताल पर जायेंगे फिर भी मंागे पूरी न होने पर 1 अप्रैल से अनिश्चितकालीन देशव्यापी हड़ताल पर जा रहे हैं।

एन.सी.बी.ई. के प्रदेश महामंत्री काम.के.के.सिंह ने कहा जब आरबीआई और नाबार्ड में पांच दिनी बैंकिंग है तो सारी बैंकों को पांच दिनी करने में क्या समस्या हो सकती है उन्होंने आगे कहा अगर हम अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए तो निश्चय ही बैंकिंग ढांचा चरमरा जाएगा।

यू.एफ.बी.यू. के प्रांतीय संयोजक काम.वाई.के.अरोड़ा ने कहा कि यह अत्यन्त दुर्भाग्य की बात है कि भारतीय बैंक संघ व भारत सरकार वेतन समझौता, पेन्शन पुर्नरीक्षण आदि मुद्दों पर लगातार टरकाने का रवैया बनाये हुये है। फोरम के लखनऊ संयोजक अनिल श्रीवास्तव ने बताया कि पिछले दिनों एक प्रतिनिधि मंडल ने माननीय राज्यपाल महोदया से मिलकर माननीय प्रधानमंत्री को सम्बोधित एक ज्ञापन सौंपा था लेकिन अभी तक हमें कोई उत्तर प्रधानमंत्री कार्या्रलय से प्राप्त नहीं हुआ है।

प्रदर्शन को काम. वी.के.सेंगर, पवनकुमार, आर.एन.शुक्ला. वी.के.सिंह, दीप बाजपेयी, दीपेन्द्रलाल, संदीप सिंह, डी.पी.वर्मा, मनमोहन दास आदि बैंक नेताओं ने भी संबोधित किया। सभा में बड़ी संख्या में महिला बैंककर्मी भी उपस्थित रही।

सभा के अंत में मीडिया प्रभारी अनिल तिवारी ने बताया कि अब अगले चरणों में 17 फरवरी-काले बैज पहनना व प्रदर्शन, 20 फरवरी-प्रदर्शन, 26 फरवरी.-प्रदर्शन, 3 मार्च-कैन्डिल लाइट प्रोटेस्ट आदि प्रदर्शन 11 से 13 मार्च की देशव्यापी हड़ताल के पूर्व किये जायेंगे।

Lucknow, Uttar Pradesh, India