सोनीपत में बोले मोदी, आपको याद है ना क्या हुआ था 5 अगस्त को?

सोनीपत में बोले मोदी, आपको याद है ना क्या हुआ था 5 अगस्त को?

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हरियाणा से सोनीपत में शुक्रवार को एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि जब भी वे स्वच्छ भारत या सर्जिकल स्ट्राइक की बात करते हैं तो कांग्रेस के पेट में दर्द उठने लगता है। सोनीपत के गोहाना में पीएम मोदी ने कहा कि हरियाण के इस क्षेत्र ने हर क्षेत्र में भारत को गौरव करने का मौका दिया है। पीएम मोदी ने कहा, 'कुश्ती की बात हो या फिर आतंकवाद के खिलाफ लड़ने की बात सोनीपत ने हर जगह भारत को गौरव प्रदान किया है। सोनीपत का मतलब किसान, जवान और पहलवान है।'

सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा, 'जब हम स्वच्छ भारत या सर्जिकल स्ट्राइक की बात करते हैं तो कांग्रेस के पेट में दर्द उठने लगता है और जब गलति से भी बालाकोट का जिक्र कर दिया तो कांग्रेस वाले दर्द के मारे उछलने लगते हैं। पाकिस्तान इनका इस्तेमाल दुनिया में अपना केस मजबूत करने के लिए करता है। ये कैसी केमेस्ट्री है।'

पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा, कांग्रेस के शासन में न तो जवान सुरक्षित थे और न ही किसान और खिलाड़ी ही सुरक्षित थे। कांग्रेस खेती में भी भ्रष्टाचार में शामिल रही और खेल में भी घोटाला किया। पीएम मोदी ने कहा, 'पांच साल पहले भारत के खेलों से घोटाले-भ्रष्टाचार की खबरें आती थीं, खेल की चर्चा ही नहीं होती थी। बीते 5 साल में खेल के मैदान से आ रही गौरव और सम्मान खबरें देश की युवा शक्ति को प्रेरणा दे रही है।'

पीएम ने कहा, कांग्रेस के कुशासन में ना तो जवान सुरक्षित था, ना हरियाणा के किसान और न ही खिलाड़ियों का हित। किसान के खेत पर इन्होंने भ्रष्टाचार की फसल उगाई और खेल में इन्होंने घोटालों की उपज काटी।'

पीएम मोदी ने कहा, 'कांग्रेस ने मोदी को जितना भला-बुरा कहना है, कहे, लेकिन भारत मां का तो गौरव करें। सीमाएं इतनी भी न लाघें कि देश का नुकसान हो। 370 को हटाने की सबसे बड़ी विरोधी रही कांग्रेस अब हरियाणा को संभालने के लिए कोशिश कर रही है।'

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल-370 हटाने के मुद्दे पर पीएम ने कहा, 'आपको याद है ना क्या हुआ था 5 अगस्त को? 5 अगस्त को वो हुआ, जिसकी देश ने एक तरह से उम्मीद ही छोड़ दी थी। 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर में भारत का पूरा संविधान लागू हुआ। 70 साल से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के विकास में जो सबसे बड़ी रुकावट थी, वो हमने 5 हटा दी।'