सोनभद्र पीड़ितों से मिलने जा रहे प्रियंका हिरासत में, धरने पर बैठीं

सोनभद्र पीड़ितों से मिलने जा रहे प्रियंका हिरासत में, धरने पर बैठीं

नई दिल्ली: उत्‍तर प्रदेश कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी शुक्रवार को सोनभद्र जाते वक्त 25 किलोमीटर पहले नारायण पुलिस चौकी पर प्रशासन ने रोका लिया है. जिला प्रशासन की इस कार्रवाई पर प्रियंका ने कहा कि मेरे वहां पर जाने से कोई कानून व्यवस्था पर असर नहीं पड़ने वाला. उन्होंने कहा कि मुझे किस कानून के तहत रोका गया. प्रियंका गांधी धरने पर बैठ गई हैं. धरने पर बैठी प्रियंका ने कहा कि मुझे जिला प्रशासन के अधिकारी ऑर्डर की कॉपी दिखाए मुझे किस नियम के तहत रोका गया है. मैं तो यहां तक कहा कि मेरे साथ सिर्फ 4 लोग होंगे. फिर भी प्रशासन हमें वहां जाने नहीं दे रहा है. उन्हें हमें बताना चाहिए कि हमें क्यों रोका जा रहा है. हम यहां शांति से बैठे रहेंगे. इस मामले में यूपी डीजीपी ने कहा कि प्रियंका गांधी को हिरासत में नहीं लिया गया है. डीजीपी कार्यालय के मुताबिक सोनभद्र में धारा 144 लगी हुई है. कांग्रेस ने वहां जाने की कोई परमिशन नहीं ली हैं.

वहीं प्रशासन ने प्रियंका गांधी समेत कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया है. बताया जा रहा है कि सोनभद्र के मूर्तिया गांव में धारा 144 लगी हुई है. हिरासत में लेने के बाद प्रियंका गांधी को चुनार गेस्ट हाउस ले जाया गया. इस दौरान कांग्रेस महासचिव ने कहा कि मुझे नहीं पता कि कहां ले जाया जा रहा है, लेकिन वे जहां ले जाएंगे हम जाने को तैयार हैं. लेकिन झुकेंगे नहीं. फिलहाल प्रियंका को चुनार गेस्ट हाउस ले रखा जाएगा. इससे पहले प्रियंका सुबह 9:40 पर वाराणसी पहुंचने के बाद ट्रामा सेंटर में गईं. जहां उन्‍होंने सोनभद्र के घोरावल कोतवाली इलाके के धुम्मा गोलीकाण्ड में घायल हुए लोगों से हाल चाल पूछा.

सोनभद्र की घटना पर सदन में बोलते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अपर मुख्य सचिव राजस्व के नेतव में 3 सदस्यीय कमेटी गठित कर दी गई है. उन्होंने कहा कि 1952 से लेकर कमेठी जांच करेगी. नरसंहार के बोलते हुए कहा कि मुख्य आरोपी सहित 29 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. सीएम ने कहा कि जांच के बाद जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

बता दें कि 17 जुलाई को सोनभद्र जिले के घोरावल के मूर्तियां गांव में बुधवार को जमीनी विवाद में ग्राम प्रधान और ग्रामीणों के बीच हुई हिंसक झड़प में गोली लगने से एक पक्ष के 9 लोगों की मौत हो गई. जबकि तीन अन्य गंभीर रूप से घायल हैं. मृतकों में 5 पुरुष और 4 महिलाएं शामिल हैं. तनाव को देखते हुए मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती है.

Uttar Pradesh, India