भारत-श्रीलंका मैच के दौरान पर आसमान दिखा भारत विरोधी बैनर

भारत-श्रीलंका मैच के दौरान पर आसमान दिखा भारत विरोधी बैनर

नई दिल्ली : भारत और श्रींलका के बीच शनिवार को हेडिंग्ले में खेले गए लीग मैच में भारत ने श्रीलंका को आसानी से सात विकेट से मात देकर अंक तालिका में पहला स्थान हासिल कर लिया और अब सेमीफाइनल में टीम इंडिया का सामना न्यूजीलैंड से होगा। लेकिन, इस मैच के दौरान एक ऐसा दृश्य देखने को मिला जिसे देखकर खिलाड़ियों की सुरक्षा को लेकर आईसीसी सवालों के कटघरे में आ चुकी है।

दरअसल, भारत और श्रीलंका मैच के दौरान स्टेडियम के ऊपर से एक विमान गुजरते हुए देखा गया, जो कि भारत विरोधी बैनर लहराते हुए गुजर रहा था। इस घटना को देखते हुए बीसीसीआई काफी नाराज नजर आ रहा है और अब नाराज बीसीसीआई ने हैडिंग्ले स्टेडियम के ऊपर विमान से भारत विरोधी बैनर लहराने के मुद्दे को ‘अस्वीकार्य’ बताते हुए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के समक्ष अपने खिलाड़ियों की सुरक्षा का मुद्दा उठाया है।

राजनीति से प्रेरित एक अन्य घटना के तहत शनिवार को भारत और श्रीलंका के बीच विश्व कप मैच के दौरान हैडिंग्ले स्टेडियम के ऊपर भारत विरोधी बैनर लहराता हुए विमान उड़ा। इस घटना के बाद बीसीसीआई ने आईसीसी के समक्ष लिखित शिकायत दर्ज कराई है। मैच की शुरुआत के कुछ ही मिनट बाद मैदान के ऊपर एक विमान ‘कश्मीर के लिए न्याय’ संदेश के साथ उड़ा। आधे घंटे बाद इसी तरह का एक विमान फिर स्टेडियम के ऊपर उड़ा जो ‘भारत नरसंहार बंद करो, कश्मीर को आजाद करो’ का बैनर लहरा रहा था।

भारत जब लक्ष्य का पीछा कर रहा था उस दौरान तीसरा विमान नजर आया और इस बार ‘भीड़ द्वारा पीटकर हत्या बंद करने में मदद करो’ का बैनर लहरा रहा था। कार्रवाई की बोर्ड की योजना की जानकारी रखने वाले बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने पीटीआई को बताया, ‘यह पूरी तरह से अस्वीकार्य है। हमने आईसीसी को लिखा है, हैडिंग्ले में जो भी हुआ उसे लेकर अपनी चिंता जाहिर की है। अगर सेमीफाइनल में इस तरह की घटना दोहराई गई तो यह बेहद दुर्भाग्यशाली होगा। हमारे खिलाड़ियों की सुरक्षा सर्वोच्च है।’

गौरतलब है कि पाकिस्तान और अफगानिस्तान के बीच मैच के दौरान भी यहां स्टेडियम के ऊपर विमान से पाकिस्तान विरोधी बैनर लहराए गए थे। इनमें हिंसाग्रत बलूचिस्तान में कथित तौर पर लोगों को बलपूर्वक गायब करने को खत्म करने की मांग की गई थी। इस मैच के दौरान दोनों देशों के प्रशंसक भी आपस में भिड़ गए थे। स्टेडियम परिसर में झड़प के बाद कुछ प्रशंसकों को बाहर भी कर दिया गया था। आईसीसी की राजनीति और नस्ली संदेशों के खिलाफ शून्य सहिष्णुता की नीति है और 10 दिन के भीतर सुरक्षा में एक और चूक पर उसने निराशा जाहिर की है।

आईसीसी ने बयान में कहा, ‘हम बेहद निराश हैं कि दोबारा ऐसा हुआ। हम आईसीसी पुरुष क्रिकेट विश्व कप के दौरान किसी तरह के राजनीतिक संदेश की स्वीकृति नहीं देते।’ इंग्लैंड के उत्तर में यार्कशर में पाकिस्तान के काफी लोग रहते हैं। पता चला है कि नौ और 11 जुलाई को होने वाले दो सेमीफाइनल के लिए क्रमश: मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड और बर्मिंघम के एजबस्टन के ऊपर विमान को उड़ाने की स्वीकृति नहीं होगी। इस संबंध में मैनचेस्टर और यार्कशर के पुलिस अधिकारियों ने आईसीसी को आश्वासन दिया है।