भाजपा का मूल मंत्र ‘‘सर्व स्पर्शी भाजपा, सर्वव्यापी भाजपा’’:शिवराज चौहान

भाजपा का मूल मंत्र ‘‘सर्व स्पर्शी भाजपा, सर्वव्यापी भाजपा’’:शिवराज चौहान

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश के सभी क्षेत्रीय एवं जिला सदस्यता प्रमुखों की बैठक आज भाजपा प्रदेश मुख्यालय में आयोजित हुई। बैठक को सम्बोधित करते हुए भारतीय जनता पार्टी के ष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन जब बना तब लोग 30 से अधिक सीटें नहीं मिलेगी ऐसा बताते थे और कहते थे इस बार अकेले बीजेपी की सरकार सपा-बसपा की वजह से नहीं बनेगी। लेकिन हमने उ0प्र0 में 64 सीटे जीती | उ0प्र0 के इस जीत के लिए सक्षम प्रदेश नेतृत्व को मैं बधाई देता हूॅ। उन्होंने कहीं की ईट-कहीं का रोड़ा, बुआ-बबुआ ने कुनबा जोड़ा, की जातीय मानसिकता को फेल कर दिया।

उन्होंने कहा कि एक समय यूपीए की सरकार भी थी जब मैं विदेश जाता था भारत के प्रधानमंत्री का कोई नाम नहीं लेता था आज विश्व के राष्ट्राध्यक्ष मोदी जी के सम्मान में छाता तक लेकर खड़े होते है। पहले योग को हाई क्लास लोग एवं साधू-संयासी लोग ही करते थे आज मोदी जी के प्रयास से पूरे भारत के साथ-साथ पूरे विश्व के लोग भी योग कर रहे है। पिछली सदस्यता 2014-15 में हुई थी। उत्तर प्रदेश में 1.80 करोड़ सदस्य मिस्डकाल देकर बने थे। जिसमें से 1.13 करोड़ का डाटा हमारे पास है। पूरे भारत से 11 करोड़ सदस्य बने थे। जो सदस्य बन जाता है वो वोट देने के लिए प्रतिबद्ध हो जाता है। उसका नतीजा है 303 सीटे, हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह जी का लक्ष्य है जहां सरकार नहीं बनी वहां सरकार बनाना है, जहां हमारी सरकार है वहां वोटो का प्रतिशत बढ़ाना है, इस बार हमारी सदस्यता का मूल मंत्र ‘‘सर्व स्पर्शी भाजपा, सर्वव्यापी भाजपा’’।

शिवराज चौहान ने कहा कि गरीब कल्याण की योजनाओं का असर धीरे-धीरे भारत में हो रहा है। बिजली व्यवस्था में सुधार, किसान सम्मान निधि, लाभार्थी योजनाओं ने सभी वर्गो को भाजपा से जोड़ा है। हमारी सर्व स्पर्शी योजनाओं ने अल्पसंख्यको को भी जोड़ा। हमारा मानना है न्याय सबको तुष्टीकरण किसी का नहीं की भावना से काम करते हुए अल्पसंख्यक बूथों पर सदस्यता बढ़ानी है। चाहे किसान, मजदूर, रिक्शा चालक, उद्योग पति, डाक्टर, प्रोफेसर, छात्र, चाहे फुटपाथ पर काम करने वाला हो, रेलवे स्टेशन हो या बस स्टेशन हो, किसी भी क्षेत्र में हो हमको कठिन परिश्रम करके सदस्यता में न्यूनतम 20 प्रतिशत बढ़ोत्तरी के लक्ष्य के साथ हमें जनता के बीच जाना है। अच्छी सफलता प्राप्त करने का सूत्र बताते हुए शिवराज जी ने कहा ‘‘पांव में चक्कर, मुहॅ में शक्कर, सिर पर बर्फ, सीने में आग’’ इस भावना से कार्यकताओं को सदस्यता अभियान चलाना चाहिए। घनघोर परिश्रम की पराकष्ठा करके नये भारत के निर्माण के लिए मोदी जी और अमित शाह जी लगे है। हमें उनका अनुशरण करते हुए और उनसे प्रेरणा लेते हुए कार्य करना चाहिए।

Lucknow, Uttar Pradesh, India