जहरीली शराब पीने से बाराबंकी में 13 की मौत

जहरीली शराब पीने से बाराबंकी में 13 की मौत

बाराबंकी: उत्तर प्रदेश में जहरीली शराब का कारोबार थमने का नाम नहीं ले रहा है. इस बार राजधानी लखनऊ से सटे बाराबंकी जिले में जहरीली शराब पीने से १३ लोगों की मौत हो गई है जबकि एक दर्जन से ज्यादा लोगों को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है. बता दें कि कई लोगों की हालत अति गंभीर है जिससे मौतों का आंकड़ा बढ़ सकता है. हालंकि एसपी अजय साहनी ने पांच मौतों की पुष्टि की पुष्टि की है और कहा कि तीन लोगों का इलाज चल रहा है. दो लोगों को लखनऊ रेफर किया गया है.

जानकारी के मुताबिक मारे गए लोगों ने राम नगर कोतवाली क्षेत्र के रानीगंज में सोमवार शाम को सरकारी ठेके से खरीद कर शराब पी थी. देर रात अचानक उनकी तबियत बिगड़ने लगी तो परिजन उन्हें लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे, जहां इलाज के दौरान अभी तक 13 लोगों ने दम तोड़ दिया है. मंगलवार की सुबह तक सोनू पुत्र सुरेश (25) निवासी अकोहरा, राजेश पुत्र सालिक राम (35) निवासी देवरिया के अलावा रामेश कुमार पुत्र छोटेलाल (35), सोनू पुत्र छोटे लाल (25), मुकेश पुत्र छोटे लाल (28) के अलावा स्वयं छोटेलाल निवासी रानीगंज की मौत जहरीली शराब से हो गई है.

एक ही घर में चार लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं, दूसरी ओर सूर्यभान पुत्र सूर्य बक्स निवासी पिपरी मोहन की भी मौत की मौत घर पर हो गई. जहरीली शराब पीने से तिलकराम, महेंद्र, निर्मल, उमरी गांव के राजेंद्र, सिमरा के विनय प्रताप, तेलवानी के महेश और मुंड के शिव कुमार की हालत गंभीर बनी है.

फिलहाल मौके पर पुलिस प्रशन मौजूद है और मामले की जांच में जुट गया है. बताया जा रहा है कि सोमवार की रात को करीब 9:00 बजे से सीएचसी सूरतगंज में मरीजों के आने का सिलसिला शुरू हो गया. एक के बाद एक करके आधा दर्जन से अधिक लोग गंभीर हालत में आए. सभी मरीजों ने जब शराब पीने से हालत बिगड़ने की बात बताई तो फिर डॉक्टरों ने इसकी सूचना पुलिस को दी.

मृतकों के परिवार के लिए 2 लाख मुआवजे का ऐलान

जहरीली शराब पीने से मरे लोगों के परिवार के लिए सीएम योगी ने 2-2 लाख रुपए के मुआवजे का ऐलान किया है. प्रमुख सूचना सचिव के मुताबिक अयोध्या के आयुक्त, आईजी अयोध्या और आबकारी आयुक्त की तीन सदस्यीय कमेटी बनाकर 48 घंटे के भीतर जांच सौंपने के आदेश भी जारी किए गए हैं. मामले में सरकार की तरफ से राजनीतिक साजिश के एंगल की जांच करने समेत कड़ी कार्रवाई करने के आदेश भी दिए गए हैं. जानकारी के मुताबिक अभी 16 लोगों का इलाज चल रहा है वहीं 5 अन्य लोगों को राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है. मामले में बाराबंकी में मौजूद जांच समिति के लोग साक्ष्य मुहैया करवा सकते हैं.

जिला आबकारी अधिकारी समेत 10 पर गिरी गाज

बाराबंकी जहरीली शराब से हुई मौत के मामले में आबकारी मंत्री जय प्रताप सिंह ने सख्त कार्रवाई करते हुए जिला बाकरी विभाग के 10 कर्मचारियों को निलंबित कर दिया. मामले में जिला आबकारी अधिकारी, इंस्पेक्टर, तीन हेड कांस्टेबल समेत 5 सिपाहियों को निलंबित किया गया है.

10 पुलिसकर्मी सस्पेंड

इस मामले में योगी सरकार ने एक्शन लेते हुए डीईओ बाराबंकी शिव नारायण दूबे, आबकारी निरीक्षक रामतीरथ मौर्य, 3 हेड कांस्टेबल और सर्कल के 5 कांस्टेबल को निलंबित कर दिया है.

बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मरने वालों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है और कड़ी कार्रवाई के आदेश दिए हैं. सीएम योगी ने डीएम और एसपी को तुरंत मौके पर पहुंचने और मेडिकल सुविधाएं उपलब्ध करवाने के आदेश दिए हैं. इसके अलावा योगी ने प्रिंसिपल सेक्रटरी (एक्साइज) को भी तुरंत जांच के आदेश दिए हैं.

इससे पहले उत्तर प्रदेश और उत्तरखंड में जहरीली शराब पीने से सहारनपुर, रुड़की और कुशीनगर में 98 लोगों की मौत हो गई थी. सहारनपुर के 64, रुड़की में 26 और कुशीनगर में 8 लोगों की मौत हुई थी. तब इस मामले में प्रशासन की लापरवाही के लिए सरकार ने नागल थाना प्रभारी सहित दस पुलिसकर्मा और आबकारी विभाग के तीन इंस्पेक्टर और दो कॉन्स्टेबल को सस्पेंड कर दिया था.

Uttar Pradesh, India