हैण्डबॉल चैंपियनशिप में मेजबान यूपी की लड़कियों का विजय अभियान जारी

हैण्डबॉल चैंपियनशिप में मेजबान यूपी की लड़कियों का विजय अभियान जारी

साई, दिल्ली सहित हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, बिहार, पंजाब अंतिम 16 में

लखनऊ। पिछली बार की विजेता साई और उपविजेता दिल्ली के साथ ही हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, बिहार, पंजाब की टीमें अपने-अपने ग्रुपों में सभी मैच जीतकर 35वीं राष्ट्रीय सब जूनियर बालिका हैण्डबॉल चैंपियनशिप के प्री क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई है।

रविवार को खेले गए कुल 17 मैचों में अधिकांश मुकाबले एकतरफा निकले वहीं मेजबान उत्तर प्रदेश की टीम अपने ग्रुप एच में लगातार दो मैच जीतकर मजबूत स्थिति में है। मेजबान यूपी की लड़कियों ने अपने ग्रुप में असम को एकतरफा मुकाबले में 31-11 गोलों से हराकर प्री क्वार्टर फाइनल में पहुंचने की उम्मीद जगाए हुए है। यूपी की जीत में पिछले मैच की तरह निक्की और आराधना सर्वाधिक गोल दागने में सफल रही। दोनों ने सात-सात गोल किए। काजल सैनी नेे भी इस मैच में चमकते हुए सात गोल किए। इसके अलावा मुस्कान और के.फातिमा ने भी तीन-तीन गोल किए। फिलहाल वह अपने ग्रुप में शीर्ष पर है और उसे अपना अंतिम लीग मुकाबला छत्तीसगढ़ से खेलना है।

केडी सिंह बाबू स्टेडियम में दूसरे दिन प्रातःकालीन सत्र में कुल आठ मैच खेले गए जिसमें ग्रुप एच के छत्तीसगढ़ बनाम असम के मैच को छोड़कर सभी मैच एकतरफा रहे। इसमें पिछली उपविजेता दिल्ली की टीम ने चैंपियनशिप की अब तक की सबसे बड़ी जीत हासिल की। दिल्ली के विरूद्ध ओेडिशा की टीम एक भी गोल नहीं कर सकी। दिल्ली की टीम ने शून्य के मुकाबले 30 गोलों से यह मैच जीता जबकि पूल डी में हिमाचल प्रदेश के विरूद्ध मध्य प्रदेश की लड़कियां मात्र एक गोल कर सकी। हिमाचल प्रदेश ने 17-1 गोलों से विजय जीत दर्ज की। इसी तरह ग्रुप सी में हरियाणा की लड़कियों ने भी उत्तराखंड की लड़कियों को मात्र एक गोल करने की इजाजत दी। हरियाणा ने 18-1 गोलों से सफलता जीत दर्ज की।

ग्रुप ए में गत विजेता साई ने अपने पहले मुकाबले में आंध्र प्रदेश को 17 के मुकाबले 22 गोलों से हराते हुए शानदार शुरुआत की। प्रातःकालीन सत्र में पूल ई में केरल ने कर्नाटक को 4 के मुकाबले 17 गोलों से हराया। सुबह खेले गए मैचों में एकमात्र संघषपूर्ण मुकाबला पूल एच में छत्तीसगढ़ और असम के बीच हुआ जिसमें छत्तीसगढ़ 4 गोलों के अंतर (17-13) से जीत सकी। मध्यांतर तक छत्तीसगढ़ की टीम 9-4 गोलों से आगे थी। अन्य मैचों में ग्रुप एफ में पंजाब ने तेलंगाना को 26-2 से, ग्रुप जी में गुजरात ने चंडीगढ़ को 13-7 गोल से हराया।

सायंकालीन सत्र में साई ने पश्चिम बंगाल को 4 के मुकाबले 21 गोलों से पराजित करते हुए शीर्ष पर पहुंच गयी। मध्यांतर तक साई की टीम 9-3 गोलों से आगे थी। साई की टीम को विजयी बनाने में पूजा और मौमिता ने जहां पांच-पांच गोल दागे वहीं तनु ने चार और प्रीति ने दो गोलों का योगदान किया। इसी तरह पिछले साल की उपविजेता दिल्ली ने भी ग्रुप बी में अपना दूसरा मैच राजस्थान के विरूद्ध 12-9 गोलों से जीतकर अपने ग्रुप में शीर्ष पर रहते हुए अंतिम 16 में पहुंच गई। मध्यांतर तक दिल्ली 5-2 गोलों से अंजली के चार, हर्षिता के तीन और खुशबू के दो गोलो के चलते आगे थी। राजस्थान के लिए दीपिका और आरती दोनों ने क्रमशः तीन-तीन गोल किए।

ग्रुप सी में हरियाणा ने अपने दूसरे मैच में त्रिपुरा को 23-2 गोलों से हराकर शानदार जीत दर्ज की। विजयी टीम के लिए पूनम ने छह, प्रियंका ने पांच, अंजू ने चार और मोनिका ने तीन गोल किए। ग्रुप डी के मैच में हिमाचल प्रदेश ने दादर-नगर हवेली को भी एकतरफा मुकाबले में 5 के मुकाबले 14 गोलों से हराते हुए अगले पायदान में पहुंचने में सफल रही। हिमाचल के लिए पायल ने पांच, पलक, मेघना और रेखा ने दो-दो गोल किए। पूल जी में चंडीगढ़ ने तमिलनाडु को 17-14 गोलों से हराया। विजयी चंडीगढ़ के लिए मन्नत कौर ने छह, आयुषी शर्मा ने भी छह और शिखा देवी ने तीन गोल किए। वहीं तमिलनाडु की ओर से दर्शिनी ने छह, भुवनेश्वरी ने तीन और सुजीत ने दो गोल उतारे।

अन्य मुकाबलों में ग्रुप ई में बिहार ने कर्नाटक को 19-7 गोलों से हराकर अंतिम 16 में जगह बनाने में सफल रही। एक अत्यंत रोमांचक मैच में पंजाब और महाराष्ट्र के बीच मुकाबला 14-14 की बराबरी पर छूटा। मध्यांतर तक पंजाब की टीम 1 गोल (6-5) से आगे थी।

आज के मैचों में सुश्री रीना सरीन (उपाध्यक्ष, हैण्डबॉल फेडरेशन ऑफ इंडिया) ने खिलाड़ियों से परिचय प्राप्त किया। सोमवार को प्रातःकालीन सत्र में छह मैच खेले जाएंगे जबकि सायंकालीन सत्र में प्री क्वार्टर फाइनल के आठ मुकाबले संपन्न होंगे।