वोडाफोन फाउन्डेशन, नैसकाॅम फाउन्डेशन और वीएसओ ने लाॅन्च किया वाईब

वोडाफोन फाउन्डेशन, नैसकाॅम फाउन्डेशन और वीएसओ ने लाॅन्च किया वाईब

नई दिल्ली: भारत की प्रमुख दूरसंचार कंपनी वोडाफोन आइडिया लिमिटेड के वोडाफोन फाउन्डेशन ने नैसकाॅम फाउन्डेशन और वीएसओ के साथ साझेदारी में आज एक अनूठे मोबाइल आधारित डिजिटल समाधान ‘वाईब का लाॅन्च किया है। श्री अरूण गोयल, सचिव, संस्कृति मंत्री, भारत सरकार इस लाॅन्च के मौके पर मौजूद थे।

वीएसओ-वाईब का लाॅन्च करते हुए अरूण गोयल ने कहा, ‘‘वाॅल्यूटियरिंग (स्वयंसेवा) हमारे देश की कई मुश्किल चुनौतियों को हल कर सकती है। भारत में प्रतिभाशाली स्वयंसेवियों की बड़ी संख्या देश के गंभीर मुद्दों से निपटने की क्षमता रखती है। मैं इस ऐप को बनाने वालों का धन्यवाद करना चाहूंग, जिन्होंने संस्थानों, एनजीओ और स्वयंसेवियों को एक ही मंच पर लाने के लिए डिजिटल इंटरफेस पेश किया है। मुझे विश्वास है कि यह समाधान अपने आप में एक बड़ी उपलब्धि साबित होगा।’’

इस मौके पर पी बालाजी, चीफ, रेग्युलेटरी एवं कोरपोरेट अफेयर आॅफिसर, वोडाफोन आइडिया लिमिटेड ने कहा, ‘‘वोडाफोन आइडिया में हम ऐसी आधुनिक तकनीकों के लिए प्रतिबद्ध हैं जो संगठनों में समावेशन को बढ़ावा दें और सामाजिक कल्याण को प्रोत्साहित करें। अपनी ‘कनेक्टिंग फाॅर गुड’ की रणनीति के तहत हमने कई तकनीक उन्मुख समाधान विकसित किए हैं, जिन्होंने लाखों लोगों को लाभान्वित कर समाज पर सकारात्मक प्रभाव पैदा किया है। इस अत्याधुनिक डिजिटल प्लेटफाॅर्म वीएसओ-वाईब के लाॅन्च के साथ हम व्यक्तिगत एवं कोरपोरेट स्तर पर वाॅल्यूटियरिंग (स्वयंसेवा) को बढ़ावा देना चाहते हैं, साथ ही एनजीओ को भी इस सिस्टम के साथ जोड़ना चाहते हैं। हमें खुशी है कि हम नैसकाॅम और वीएसओ के साथ साझेदारी में ऐसा समाधान लेकर आए हैं जो वाॅल्यून्टीयर मोबिलाइज़ेशन, एंगेजमेन्ट एवं मैनेजमेन्ट को प्रोत्साहित करेगा।’’

इस मौके पर अशोक पामिदी, सीईओ, नैसकाॅम फाउन्डेशन ने कहा, ‘‘3.97 मिलियन सहयोगियों के साथ आईटी-बीपीएम उद्योग में भारत का सबसे बड़ा संभावी स्वयंसेवी आधार है। यह मंच स्वयंसेविधयों को ऐसा प्लेटफाॅर्म देता है जहां उन्हें समाज की ज़रूरत के अनुसार उचित योगदान देने का अवसर मिलता है ाअैर कंपनियां स्वयंसेवा के इन घंटों एवं इसके प्रभाव का मूल्यांकन कर सकती हैं। वीएसओ-वाईब इसी दिशा मेां एक प्रयास है जिसमें कंपनियों के अंदर और कंपनियों के बीच बड़े पैमाने की स्वयंसेवी गतिविधियों को बढ़ावा देने की क्षमता है। ‘कनेक्टिंग फाॅर गुड’ पहल के तहत वोडाफोन आईडिया सीएसआर के साथ साझेदारी में विकसित यह प्लेटफाॅर्म कोरपोरेट वाॅल्यून्टीयरिंग के लिए वन-स्टाॅप शाॅप की भूमिका निभाता है और एनजीओ को स्वयंसेवियों के साथ जोड़ने के लिए प्रत्यक्ष इंटरफेस प्रदन करता है।’’

‘‘इसका खास फीचर है कि यह हर वाॅल्यूटीयर के काम को एसडीजी, स्मार्ट डैशबोर्ड, रियल टाईम नोटिफिकेशन और डाॅक्यूमेंटेशन के साथ जोड़ता है। वीएसओ-वाईब भारत में वाॅल्यून्टीयरिंग का दायरा बढ़ाकर सीमांत समुदायों के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाएगा।’’ सचल अनेजा, एशिया पेसिफिक कोरपोरेट एंगेजमेन्ट मैनेजर, वीएसओ ने कहा।