राजस्थान: चुनाव प्रचार के आखरी दिन पीएम मोदी ने फिर खुद को बताया चायवाला

राजस्थान: चुनाव प्रचार के आखरी दिन पीएम मोदी ने फिर खुद को बताया चायवाला

नई दिल्ली: राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए आज प्रचार का अंतिम दिन है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा उम्मीदवारों के पक्ष में राज्य के सुमेरपुर में एक चुनावी जनसभा को संबोधित किया। अपने संबोधन के दौरान उन्होंने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने मैं भी लूटूं, आप भी लूटो का खेल खेला। उन्होंने कहा, 'मां बेटे ने पुरानी फाइलों को बंद किया हआ था और मैं आया तो पुराने मामले खोले गए और ये कोर्ट चले गए। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि पुराने मामले खोले जा सकते हैं मैं देखता हूं कितना बचकर निकलोगे। एक चायवाला उन्हें अदालत के दरवाजे पर ले आया।'

अगुस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर सौदे में बिचौलिये की भूमिका निभाने वाले क्रिश्चियन मिशेल की गिरफ्तारी पर पीएम मोदी ने कहा कि अब राजदार राज खोलेगा और पता नहीं बात कितनी दूर तक पहुंचेगी। उन्होंने कहा कि हेलीकॉप्टर कांड करने वाले को उठाकर लाए। आपको पता है कि भ्रष्टाचारियों को पकड़ने का काम किसने किया, तो उन्होंने कहा कि ये मोदी ने नहीं बल्कि आपके एक वोट ने किया है।

पीएम मोदी ने कहा, जो लोग 2014 में मोदी की पराजय ढूढ़ रहे थे, मोदी के पराजित होने पर आनंद लूटना चाहते थे। देश की जनता ने उस टोली को निराश कर दिया। फिर उन्हें लगा कि शायद राजस्थान में जोर लगाया जाये तो हो जायेगा। लेकिन राजस्थान की जनता ने उनकी इस हवा को भी चकनाचूर कर दिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस चुनाव हार चुकी है और अब वह इस बात में लगे हैं कि हार का ठीकरा किसके सिर पर ठीकरा फोड़ा जाए।

जनसभा में पीएम मोदी ने कहा कि कितने साल से कांग्रेस की सरकार थी तो क्या पहले कभी किसान का सोने का घर था, चांदी का था, किसान के घर में मारुति या ट्रैक्टर खड़े थे क्या। उन्होंने कहा कि किसानों के बच्चे विदेश की यूनिवर्सिटी में जाते थे और किसानों को फसल के सही दाम मिलते थे क्या। पहले की सरकार कुछ कर नहीं सकी तो मोदी से जवाब मांग रहे हैं।

उन्होंने कहा कि राजस्थान में मुझे जहां-जहां जाने का मौका मिला है, वहां स्पष्ट दिख रहा है कि भारतीय जनता पार्टी को विजयी बनाने का फैसला राजस्थान की जनता ने कर लिया है। लोग एक बार फिर बीजेपी की सरकार बनाने का निर्णय ले चुके हैं। उन्होंने कहा कि मारवाड़ की वीरांगनाओं का शौर्य, त्याग और बलिदान का प्रतीक है। यहां के रंग-रंगीले कपड़ों की दुनिया भर में पहचान है। गुलाब हलवे की मिठास यहां के जन-जन की जुबान पर झलकती है।