किसानों ने बुलंद किया मोदी भारत छोड़ो का नारा

किसानों ने बुलंद किया मोदी भारत छोड़ो का नारा

लखनऊ: 76 साल पहले दिए गए अंग्रेजो भारत छोड़ो के नारे की अनुगूंज आज देश भर में लाखों किसान मजदूरों की गिरफ्तारियों के साथ सुनाई दी और करीब 500 जिलों में कारपोरेट कम्पनियों भारत छोड़ो, नरेंद्र मोदी-भारत छोड़ो के नारे में प्रतिध्वनित हुई । भारत और उसके अवाम की सलामती की अनेक जरूरी मांगे उठाई गयीं ।

लखनऊ में दोपहर संख्या में एस0डी0एम0 कार्यालय, तहसील बी0के0टी0 पर प्रदर्शन और प्रतिरोध सभा हुईं। सभा को सम्बोधित करते हुए सीआईटीयू के प्रदेश महासचिव प्रेम नाथ राय ने कहा कि सभी कर्जे माफ करने, उपज का डेढ़ गुना दाम देने का वादा करके सत्ता में आई मोदी सरकार ने अपने वादे पूरे नही किये हैं। किसान बदहाल है। मजदूर परेशान है और नवजवान हताश है। उन्होनें कहा कि अखिल भारतीय किसान सभा के आह्वान पर आज पूरे देश में किसान जेल भर रहे हैं जिनके साथ मजदूर महिला, खेत मजदूर, छात्र, नवजवान भी शामिल हैं। आज के आन्दोलन की मांग है कि किसानों के सभी कर्जे माफ किये जाएं, उपज का डेढ़ गुना दाम दिया जाए, पशु विक्रय कानून में बदलाव किया जाए, ठेका खेती पर रोक लगाई जाए, जबरन भूमि अधिग्रहण पर रोक लगाई जाए, मजदूरों को न्यूनतम 18 हजार रूप्ये प्रतिमाह मजदूरी सुनिश्चित की जाए। नवजवानों को रोजगार दिया जाए व नफरत की राजनीति और हिंसा पर रोक लगाई जाए।

सभा को सम्बोधित करते हुए जनवादी महिला समिति की जिला सचिव सीमा राना ने कहा कि पूरे देश व प्रदेश में महिलाओं के ऊपर अपराध व यौन शोषण की बाढ़ आई हुई है। वहीं सभी योजनाएं चाहे राशन कार्ड का सवाल हो या शौचालय का पूरी तरीके से धांधली का शिकार है और आम जनता को किसी प्रकार का लाभ नही मिल रहा है। उन्होनें आगे कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना एक चुनावी लौली पाॅप है क्योंकि मात्र 4 हजार लोगों को मकान दिये जाने हैं और डेढ़ लाख से ज्यादा पात्र लोगों की सूची निकाल दी गयी है जिससे वो भ्रम की स्थिति में रहें और भारतीय जनता पार्टी इस भ्रम का फायदा उठाकर उनका वोट हासिल कर ले।

सभा को यू0पी0एम0एस0आर0ए0 प्रदेश सचिव हेमंत सिंह, किसान सभा उपाध्यक्ष प्रवीन सिंह, किसान सभा ज़िला सचिव छोटेलाल रावत ने भी संबोधित किया। सभा का संचालन अनुपम यादव और अध्यक्षता ज़िला अध्यक्ष राम सागर जगत ने की। 227 लोगों ने गिरफ्तारी दी जिनको बाद में रिहा कर दिया गया।

Lucknow, Uttar Pradesh, India