सामाजिक क्रांति से ही बहुजन समाज अपने अधिकारों को  प्राप्त कर सकता है : लक्ष्य

सामाजिक क्रांति से ही बहुजन समाज अपने अधिकारों को प्राप्त कर सकता है : लक्ष्य

लखीमपुर खीरी : लक्ष्य की लखीमपुर खीरी की टीम ने "लक्ष्य गांव गांव की ओर" अभियान के तहत एक दिवसीय कैडर कैम्प का आयोजन उत्तर प्रदेश के जिला लखीमपुर खीरी के गांव गिरधरपुर में किया| जिसमे महिलाओ व् युवाओ ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया |

लक्ष्य द्वारा आयोजित इस एक दिवसीय कैडर कैम्प में बहुजन समाज की उपस्थिति को देखकर कहा जा सकता है कि बहुजन समाज के लोगो का लक्ष्य संगठन के प्रति रुझान तेजी के साथ बढ़ रहा है तथा बहुजन समाज में लक्ष्य की चर्चा जोरो पर हो रही है | यह नतीजा लक्ष्य की महिला कमांडरों की कड़ी मेहनत का परिणाम है |

लक्ष्य कमांडर रेखा आर्या, रचना कुरील, प्रतिभा राव व् रागिनी चौधरी ने बहुजन समाज की महिलाओ की स्थिति पर चर्चा करते हुए कहा कि आजादी के 70 वर्षो बाद भी बहुजन समाज की महिलाओ की स्थिति बहुत अच्छी नहीं है और वह अंधविश्वास के दलदल में जकड़ी हुई है | उन्होंने कहा कि अगर बहुजन समाज की महिलाये अपना विकास चाहती है तो उनको इस अंधविस्वास के दलदल से बहार निकलना ही होगा तथा बाबा साहेब डॉ भीम राव अम्बेडकर के आदर्शो पर चलना होगा।

उन्होंने कहा कि वो शिक्षा को अपने विकास का मार्ग बनाये | उन्होंने कहा कि शिक्षा को ग्रहण करने के लिए कोई उम्र नहीं होती है | उन्होंने बच्चो की शिक्षा पर भी जोर दिया और कहा कि बेटी को भी अवश्य पढ़ाये | उन्होंने महिलाओ की शिक्षा के क्षेत्र में माता सावित्रीबाई फुले के योगदान की भी विस्तार से चर्चा की |

लक्ष्य कमांडर संघमित्रा गौतम, प्रेम गीता, उमा अनिल व् ममता कुमारी ने कहा कि बहुजन समाज के अधिकारों का हर क्षेत्र में हनन हो रहा है और आये दिन बहुजन समाज के साथ अत्याचार होते रहते है व् हमारी महिलाये भी सुरक्षित नहीं है और इसके लिए कहीं से कोई आवाज भी नहीं आती है जोकि एक दुःखद व् गंभीर बात है | उन्होंने दुःख प्रकट करते हुए कहा कि इन अधिकारों के लिए व् बहुजन समाज पर हो रहे अत्याचारों के खिलाफ सरकार में बैठे बहुजन समाज के नेताओ का भी मुँह नहीं खुलता है बल्कि अपने आकाओ को खुश करने के लिए उनकी प्रशंसा करते हुए दिखाई देते है | उन्होंने कहा कि जब इन नेताओ को बहुजन समाज के वोट लेने होते है तो ये दलित होने का व् जय भीम का ढोंग करते दिखाई देते है | उन्होंने बहुजन समाज से आवाहन करते हुए कहा कि वो इन ढोंगी नेताओ का बहिष्कार करे |

लक्ष्य कमांडर चेतना राव, सुषमा बाबू, बबिता सेन व् सावित्री बौद्ध, ने बहुजन समाज के लोगो से अपील करते हुये कहा कि वो नशे से बचे | उन्होंने नशे से होने वाले नुकशान की भी विस्तार से चर्चा की | उन्होंने कहा कि हमारी दुर्दिशा का एक मुख्य कारण नशावर्ती भी है | उन्होंने युवाओ से नशावर्ती से बचने की सलाह देते हुए कहा कि वो शिक्षा को अपना हथियार बनाये | उन्होंने युवाओ से बहुजन समाज के अधिकारों के लिए आगे आने को भी कहा |

उन्होंने सामाजिक क्रांति को विस्तार से समझते हुए कहा कि सामाजिक क्रांति से ही बहुजन समाज अपने अधिकारों को प्राप्त कर सकता है और इसके लिए बहुजन समाज के प्रत्येक व्यक्ति को जागरूक होना होगा | उन्होंने बताया कि किस प्रकार से लक्ष्य की महिला कमांडर देश में बहुजन समाज के अधिकारों के लिए संघर्ष कर रही है |

लक्ष्य कमांडर मुन्नी बौद्ध, गीता गौतम, व् मंयका गौतम ने बाबा साहेब डॉ भीम राव अम्बेडकर के योगदान की विस्तार से चर्चा करते हुए कहा कि आज बहुजन समाज को जो अधिकार संविधान में मिले हुए है वो मात्र बाबा साहेब डॉ भीम राव अम्बेडकर के संघर्षो का ही परिणाम है और बाबा साहेब ही हमारे उद्धारक है|

उन्होंने मान्यवर कांशी राम जी के योगदान को याद करते हुए कहा कि उन्होंने कहा था कि जो समाज बिकता है उसका नेता भी बिकता है और जो समाज नहीं बिकता है उसका नेता भी नहीं बिकता है इसलिए हमें ना बिकने वाला समाज तैयार करना होगा और इसके लिए बहुजन समाज के घर घर जाकर उनको जागरूक करना होगा और इसके लिए लक्ष्य की टीमें दिन-रात कार्य कर रही है |

लक्ष्य के सलाहकार एम्.एल. आर्या ने लक्ष्य के उद्देश्यों व् कार्यो पर विस्तार से प्रकाश डाला तथा सभी लोगो का धन्यवाद किया | लक्ष्य के युथ कमांडर बबलू सिंह गौतम, खूबचंद्र गौतम, एडवोकेट के.डी गौतम, मंजू गौतम, रजनी गौतम, गोल्डी गौतम, महेश कुमार भार्गव, राजेश कुमार गौतम, जग्गनाथ प्रसाद ने भी अपने विचार रखे और लखनऊ से आई लक्ष्य की महिला कमांडरों का धन्यवाद किया और जिला लखीमपुर खीरी में लक्ष्य की जड़े और मजबूत करने की बात कही |

Uttar Pradesh, India