सपा ने नरेश अग्रवाल को बताया राजनीतिक दलाल

सपा ने नरेश अग्रवाल को बताया राजनीतिक दलाल

लखनऊ: समाजवादी पार्टी ने नरेश अग्रवाल के भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है. पार्टी ने नरेश अग्रवाल को न सिर्फ राजनीतिक दलाल बताया है, बल्कि कहा है कि सत्ता का भूखा करार दिया है. समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता सुनील सिंह साजन ने कहा कि सपा देवी-देवताओं पर गलत टिप्पणी करने वाले और सेना को अपजानक शब्द बोलने वाले नरेश अग्रवाल को राज्य सभा का टिकट नहीं दिया. उन्होंने कहा कि नरेश अग्रवाल टिकट के लिए गिड़गिड़ा रहे थे.

नरेश अग्रवाल के सपा पर बसपा से गठबंधन के आरोप पर सपा प्रवक्ता ने कहा कि दलितों और पिछड़ों का विरोध करने वालों की सपा में कोई जगह नही है. चाहे वह पार्टी में रहें या निकल जाएं. सपा अपने गरीब, पिछड़े, दलित, मुस्लिम एजेडे के गठजोड़ से पीछे नहीं हटेगी. वहीं नरेश अग्रवाल के बेटे नितिन अग्रवाल के भी बीजेपी को समर्थन पर सुनील सिंह साजन ने कहा कि विधायक नितिन अग्रवाल के खिलाफ पार्टी जल्द निर्णय करेगी.

बता दें यूपी की राजनीति में सोमवार को बड़ा उथल-पुथल देखने को मिला. वरिष्ठ समाजवादी पार्टी नेता और राज्यसभा सांसद नरेश अग्रवाल ने सोमवार को बीजेपी का दामन थाम लिया. नरेश अग्रवाल ने अपने विधायक बेटे नितिन अग्रवाल सहित अन्य समर्थकों के साथ पार्टी की सदस्यता ग्रहण की. रेल मंत्री पियूष गोयल ने उन्हें दिल्ली स्थित बीजेपी ऑफिस में पार्टी में ज्वाइन करवाया. गौरतलब है कि नरेश अग्रवाल का राज्यसभा कार्यकाल 23 मार्च को खत्म हो रहा है, लेकिन सपा ने उन्हें दोबारा राज्यसभा न भेजते हुए जया बच्चन को उम्मीदवार बनाया है.

शामिल होने के बाद नरेश अग्रवाल ने कहा, "आज मैं बीजेपी में शामिल हो रहा हूं और मैं समझता हूं जब तक राष्ट्रीय पार्टी में नहीं रहे तब तक राष्ट्र की सेवा नहीं कर सकते. इसलिए मैंने बीजेपी में शामिल हुआ हूं. मैं पीएम मोदीजी और सीएम योगीजी से प्रभावित हूं. पीएम मोदी के काम से देश का पूरे विश्व में मान बढ़ा है."

नरेश अग्रवाल ने कहा, " मैं समाजवादी पार्टी में मुलायम सिंह और रामगोपाल यादव की जरुर इज्जत करता हूं. लेकिन जिस तरह से समाजवादी पार्टी ने कभी कांग्रेस से तो कभी क्षेत्रीय पार्टियों से गठबंधन किया, उससे सपा कमजोर हुई. जिस तरह से पिक्चरों में काम करने वाली को राज्यसभा का टिकट दिया गया उससे आहत हूं. मैं बीजेपी में किसी पद के लालच से नहीं आया. पार्टी जो भी जिम्मेदारी देगी उसे पूरा करूंगा. राज्यसभा चुनाव में बेटा बीजेपी के लिए वोट करेगा."