करण जोतवानी ने लखनऊ में मनाया वैलेंटाइंस डे

करण जोतवानी ने लखनऊ में मनाया वैलेंटाइंस डे

लखनऊ: ज़ी टीवी का शो ‘आप के आ जाने से‘ 42 साल की एक आत्मनिर्भर और स्वतंत्र सिंगल मदर वेदिका माथुर (सुहासी धामी) और 24 साल के एक मस्तमौला और बिंदास युवक साहिल अगरवाल (करण जोतवानी) की असाधारण प्रेम कहानी है। इन दोनों में एक दूसरे के प्रति बेइंतेहा प्यार के अलावा कुछ भी एक जैसा नहीं है। फिर भी यह दोनों एक सफर पर निकलते हैं जिसमें वे समाज के दबाव के आगे झुकने की बजाय यह साबित करना चाहते हैं कि उन्हें प्यार करने के लिए किसी लाइसेंस की जरूरत नहीं है। ‘आप के आ जाने से‘ अपनी अनूठी कहानी से दर्शकों को खासा प्रभावित कर रहा है। वैलेंटाइंस डे के अवसर पर इस शो के लीड एक्टर करण जोतवानी आज लखनऊ पहुंचे। बोधि ट्री प्रोडक्शन के निर्माण में बना ‘आप के आ जाने से‘ सोमवार से शुक्रवार रात 10ः30 बजे ज़ी टीवी पर प्रसारित किया जा रहा है।

अपनी लखनऊ यात्रा के दौरान करण जोतवानी ने अपने प्रशंसकों से मुलाकात की और इस शो के विषय पर रोशनी डाली। उन्होंने यह भी बताया कि जब प्यार की बात होती है तो उम्र को अड़चन नहीं बनाया जाना चाहिए और समाज के दकियानूसी रिवाज हमारे दिल की सच्ची भावनाओं पर भारी नहीं पड़ने चाहिए। अपनी लखनऊ यात्रा को लेकर करण जोतवानी कहते हैं, ‘‘आपके आ जाने से एक अनूठा कांसेप्ट है। इसमें एक मजबूत संदेश है जो एक बड़ी उम्र की औरत का अपने से छोटी उम्र के आदमी से रिश्ता रखने से जुड़ी धारणाओं को तोड़ता है। यदि पुरुष अपने से कम उम्र की महिलाओं को अपना जीवन साथी बना सकते हैं तो महिलाएं भी ऐसा कर सकती हैं। आखिर हम दो प्यार करने वालों पर सवाल उठाने वाले कौन होते हैं? साहिल का किरदार बेहद पारदर्शी है और वह समाज के बाहरी तत्वों को अपनी मान्यताओं और वेदिका के प्रति अपने प्यार पर भारी नहीं पड़ने देता। व्यक्तिगत तौर पर मैं भी यह मानता हूं कि प्यार करने के लिए किसी लाइसेंस की जरूरत नहीं है, क्योंकि यह एक पवित्र एहसास है। मैं यात्रा करने का बेहद शौकीन हूं और आज खास तौर पर ‘आपके आ जाने से‘ के लिए लखनऊ में आकर बेहद उत्साहित हूं। मैं इस शहर की समृद्ध संस्कृति और परंपरा को जानने के लिए बेहद उत्सुक हूं। साथ ही कुछ लखनवी पकवानों का, खास तौर पर रॉयल कैफे की चाट का मजा लेना चाहता हूं।‘‘