येरूशलम की हिफाज़त के लिए जमियत लखनऊ ने मनाया यौमे दुआ

येरूशलम की हिफाज़त के लिए जमियत लखनऊ ने मनाया यौमे दुआ

लखनऊ। जमियत उलमा हिन्द के निर्देशानुसार जमियत उलमा लखनऊ के तहत लखनऊ में मस्जिद अक़्सा की सुरक्षा के संबंध में शुक्रवार को दुआ दिवस के रूप में मनाया गया। शहर के विभिन्न क्षेत्रों में जमियत उलमा लखनऊ के पदाधिकारियों, सदस्यों और समर्थकों द्वारा अमेरिका के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हुआ। मुख्य प्रदर्शन जमियत उलमा लखनऊ के अध्यक्ष सै0 मोहम्मद वज़ीन, कार्यकारी अध्यक्ष डा0 सलमान ख़ालिद, जमियत उलमा उ0प्र0 के कोषाध्यक्ष सै0 मोहम्मद हसीन हाशमी के नेतृत्व में बड़ी मस्जिद ऐशबाग के बाहर हुआ। जिसमें अमेरिका द्वारा मुसलमानों के साथ-साथ ईसाईयांे के लिए भी पवित्र स्थल मस्जिद अक़्सा के शहर येरूशलम को अपनी हठधर्मी करते हुए यहूदियों द्वारा अवैध रूप से कब्ज़ा किए हुए इस्राईल की राजधानी के रूप में मान्यता देने की निंदा की गयी। सै0 मोहम्मद वज़ीन ने कहा कि पूरी दुनिया में अमेरिका की निंदा की जा रही है। जमियत उलमा के पदाधिकारियों ने कहा कि हिन्दुस्तान ने सदा फिलीस्तीन का साथ देते हुए उनका समर्थन किया है। उसी परम्परा को आगे बढ़ाते और फिलिस्तीनी जनता से हमदर्दी जताते हुए हम भी उनसे हमदर्दी और समर्थन करते हैं। साथ ही भारत सरकार से भी मांग करते हैं कि वह भी अमन पसंद हिन्दुस्तानियों की भावनाओं का ख्याल रखते हुए अपने प्रभाव का इस्तेमाल करे। इस संबंध में जिला प्रशासन के माध्यम से भारत सरकार को एक ज्ञापन प्रेषित किया गया।

इसके अलावा जमियत उलमा की अपील पर मस्जिद एक मिनाना अकबरीगेट पर अयाज़ अहमद सिद्दीकी, मस्जिद सारिया हाता सूरत सिंह चैपटियां में मोहम्मद नसीम, नूर मोहम्मद अन्सारी, मस्जिद खेत वाली कंघी टोला में अरशद हुसैन एडवोकेट, हाफिज़ मोहम्मद उमर, इंजीर वाली मस्जिद नवाज़गंह में पूर्व सभासद नूर मोहम्मद और ताज अहमद, मस्जिद तलहा रज़ी तंबाकू मण्डी में हाफिज़ मतिउर्रहमान, पूर्व सभासद नवेद इक़बाल, मस्जिद तलहा गली डा0 शकील अहमद चावल वाली में सै0 मोहम्मद हातिब, मौलाना ग़यास अहमद क़ासमी, मस्जिद इब्राहीमी बिल्लौचपुर में यूसुफ उमर, मोहम्मद इमरान कुरैशी, कुतुब उद्दीन कुरैशी, आबिद अली, मस्जिद तकिया जंग अली शाह भदेवां में मौलाना कारी मोहम्मद उस्मान और मोहम्मद आसिफ के नेत्त्व में दुआ दिवस के बाद अमेरिका के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। इस मौके पर पंकज सिंह के अलावा क्ष्क्ष्क्ष्क्ष्क्ष्स्थानीय लोगों ने भी शिरकत की।

Lucknow, Uttar Pradesh, India