अंतिम रेस में ट्रैक पर गिरे महान उसैन बोल्ट

अंतिम रेस में ट्रैक पर गिरे महान उसैन बोल्ट

विश्व के महान एथलीटों में शामिल जमैका के धावक उसेन बोल्ट की आखिरी रेस पूरी हो चुकी है। हालांकि बोल्ट की आखिरी रेस में जो हुआ उसका यकीन भी किसी को नहीं हुआ। जमैका के उसेन बोल्ट चार गुणा 100 मीटर की रेस हार गए हैं। गौरलतब है कि बोल्ट 4 गुणा 100 मीटर की टीम में शामिल थे। टीम की तरफ से उन्हें आखिरी राउंड में रेस लगानी थी। रेसिंग ट्रेक पर उनकी टीम के तीन धावकों ने अपना लैप पूरा कर लिया था लेकिन आखिरी लैप में बोल्ट थोड़ी ही दूर दौड़ने लगाने के बाद चोटिल हो गए और मैदान पर पर गिर गए। चोट की वजह से वो अपनी आखिरी रेस भी पूरी नहीं कर पाए। खबर के अनुसार उनके पैर में चोट लगी थी। स्पर्धा में गोल्ड ग्रेट ब्रिटेन ने जीता है जबकि अमेरिकी रिले टीम ने सिल्वर और जापान ने ब्रॉन्ज जीता। जानकारी के लिए बता दें कि बोल्ट (30) ने जब बैटन थामी तो उनके आगे सिर्फ दो खिलाड़ी ही थे। इस दौरान उन्होंने दोनों खिलाड़ियों से आगे निकलने की कोशिश की। लेकिन वो ऐसा नहीं कर पाए। खबर है कि उनकी बाईं टांग में मांसपेशियों की चोट के कारण वो अचानक रुक गए थे। और कुछ ही देर में जमीन पर गिर गए।

वहीं चोटिल होकर जमीन पर गिरे बोल्ट के लिए व्हीलचेयर लाई गई। मगर उन्होंने बैठने से इंकार कर दिया। और अपने साथी खिलाड़ियों के कंधों के सहारा लेते हुए रेस पूरी की। हालांकि आधिकारिक तौर पर बोल्ट टीम अपनी रेस पूरी नहीं कर पाई। लेकिन 19 बड़ी प्रतियोगिता जीतने वाले बोल्ट को रेस पूरी करने की प्रतिबद्धता को भी वीडियो में देखा जा सकता है। बाद में टीम के धावक मैकलॉड ने कहा कि बोल्ट लगातार हमसे माफी मांग रहे थे। लेकिन उन्हें ऐसा करने की कोई जरूरत नहीं थी। विश्व एथलीटों की सूची में बोल्ट का नाम हमेशा जिंदा रहेगा।

दूसरी तरफ लंदन ओलंपिक का इतिहास दोहराने उतरे ब्रिटिश धावक मोहम्मद फराह की विश्व एथलीटिक्स से स्वर्णिम विदाई का सपना भी अधूरा रह गया। उनका सपना इथोपिया का मुकतार इरदिस ने तोड़ दिया। करियर की आखरी पांच हजार मीटर की रेस में फराह ने शानदार प्रदर्शन किया लेकिन आखिरी दौर की लैप में इथोपिन धावक से पिछड़ गए। इरदिस ने 13:32.79 मिनट में रेस पूरी कर गोल्ड पर कब्जा किया तो फराह 13:33.22 मिनट में रेस पूरी कर रजत पदक हासिल कर सके। तीसरे स्थान पर अमेरिका के पॉल केलिमो रहे। जिन्होंने 13:33.20 मिनट में रेस पूरी।