मोदी का भाषण कब जुमलेबाजी में बदल जाए कह नहीं सकते : जुनैद अशरफ

मोदी का भाषण कब जुमलेबाजी में बदल जाए कह नहीं सकते : जुनैद अशरफ

लखनऊ: ऑल इण्डिया हुसैनी सुन्नी बोर्ड के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सैयद जुनैद अशरफ किछौछवी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी का भाषण सुनकर बहुत अफसोस होता है, इतने बडे़ पद पर आसीन व्यक्ति लगातार इतनी सतही बातें कैसे कर सकता है। ऐसी-ऐसी घोषणा करते हैं कि कानों का सुनकर तो बड़ा अच्छा लगता है मगर इनका भाषण चुनाव बाद कब जुमलेबाजी में तब्दील हो जाये कह नहीं सकते हैं। तीसरे चरण के मतदान के बाद हम कह सकते है कि सपा-कांगेस गठबंधन बहुत तेज़ी से आगे बड़ रहा है। उसके आसपास कोई भी पार्टी खड़ी नज़र नहीं आ रही है। जहां व्यापारी भाईयों की बात करें तो डॉ. अखिलेश दास गुप्ता के कांग्रेस से जुड़ने के बाद व्यापारियों ने गठबंधन के प्रति अपनी आस्था जताकर भाजपा की कमर तोड़ दी। वही अल्पसंख्यकों ने जिस सोच, तर्क, उत्साह और परिपक्वता का अब तक परिचय दिया उससे तो बाकी बची पार्टियों में मायूसी छा गई है और बस यह पार्टियां अपनी इज्जत बचाने के लिए मैदान में हैं। सैयद जुनैद अशरफ किछौछवी ने कहा कि बगैर किसी बहकावे में न आकर सपा-कांग्रेस गठबंधन को वोट देकर उत्तर प्रदेश एक मजबूत, सशक्त और बहुमत वाली सरकार बनाकर उत्तर प्रदेश को विकास की ओर ले जाने का काम करें। वोट की अहमयित अल्लामा इकबाल के इस शेर से समझ सकते हैं कि जम्हूरियत एक तर्जे़ हुकुमत है जिसमें बंदों को गिना करते हैं तौला नहीं करते।

Lucknow, Uttar Pradesh, India