एनेक्सी के सामने आत्मदाह का प्रयास

एनेक्सी के सामने आत्मदाह का प्रयास

लखनऊ।  एनेक्सी स्थित मुख्यमंत्री कार्यालय के बाहर बुधवार दोपहर एक युवक ने सचिवालय की  सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मियों को चुनौती देते हुए मुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग को लेकर अपने ऊपर मिट्टी का तेल उड़ेलकर आत्मदाह का प्रयास किया। इस दौरान वहां खड़े सुरक्षाकर्मी पहले तो मूकदर्शक बनकर खड़े रहे लेकिन जैसे ही युवक ने आग लगाने कोशिश की तो उसे पकड़ कर हजरतगंज पुलिस को सूचना दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस उसे पकड़कर कोतवाली ले गयी जहां उसके विरुद्ध पुलिस ने सचिवालय चौकी इंचार्ज की तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार अवधनगर तेलीबाग पीजीआई निवासी प्रदीप कुमार बहुजन क्रांति पार्टी की युवा शाखा के प्रदेश अध्यक्ष हैं, जो बुधवार दोपहर हुसैनगंज स्थित पार्टी कार्यालय से मुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग को लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ नारेबाजी करते हुए एनेक्सी सचिवालय के सामने पहुंचे और सुरक्षा कर्मियों को चुनौती देते हुए उनके सामने ही करीब 5 लीटर मिट्टी तेल से भरी पिपिया अपने ऊपर उड़ेल ली। इस दौरान जैसे ही उसने आग लगाने का प्रयास किया तो विधानभवन के मुख्य रक्षक उपेन्द्र नाथ सिंह ने उसे दबोच लिया और हजरतगंज पुलिस को सूचना दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस उसे पकड़कर कोतवाली ले गयी, जहां सचिवालय चौकी इंचार्ज ए. अंसारी की तहरीर के आधार पर प्रदीप के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष केशव चंद्र पाण्डेय ने कहा कि जहरीली शराब से 40 से अधिक मौतों की जिम्मेदार समाजवादी सरकार खुद है। अगर मुख्यमंत्री इस प्रकरण में एक सिपाही से लेकर आबकारी आयुक्त तक को दोषी मानते हैं तो आबकारी विभाग के मंत्री के साथ ही प्रदेश के मुखिया होने के नाते वे स्वयं कैसे इस घटना की जिम्मेदारी से बच सकते हैं। इतने बड़े काण्ड के बावजूद वे स्वयं क्यों कुर्सी पर चिपके हुए हैं। उन्होंने न तो आबकारी विभाग छोड़ा, न तो कोई नैतिकता का परिचय देते हुए मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा ही दिया इसलिए उन्हें अब मुख्य्मंत्री पद छोड़ देना चाहिए। 

उन्होंने कहा कि प्रदेश में जंगलराज कायम है तथा उसकी तस्वीर पेश करने के लिए ये घटनायें काफी हैं। प्रदेश में जहां दलितों को मरने के बाद इज्जत का कफन भी नसीब नहीं है वहीं दूसरी ओर महिलाओं की बोली लगाई जा रही है। उन्होंने कहा कि इन दोनों घटनाओं ने देश व प्रदेश का सिर शर्म से झुका दिया है किन्तु उत्तर प्रदेश सरकार सैफई में डांस व गाना सुन रही है।

Lucknow, Uttar Pradesh, India