संस्कार, संस्कृति, नैतिक मूल्यों पर संगोष्ठी का आयोजन

संस्कार, संस्कृति, नैतिक मूल्यों पर संगोष्ठी का आयोजन

आध्यात्मिक गुरुओं , विद्वानों ने समझाया मानवता के विकास मे नैतिक मूल्यों का महत्व

लखनऊ: संस्कार, भारतीय संस्कृति, नैतिक मूल्यों एवं परम्पराओं के पुनुुरुत्थान विषय पर विचार संगोष्ठी , भजन संध्या एवं लोकगीत उत्सव कार्यक्रम का आयोजन आर0एल0बी0 स्कूल सेक्टर-08 इंदिरानगर लखनऊ में किया गया। संगोष्ठी संयुक्त रूप से खुशहाल स्वास्थ्य सेवा संस्थान, जीवन ज्योति हास्ययोग लांिफंग क्लब तथा ब्राहम्ण मिलन मंच लखनऊ द्वारा आयोजित की गयी। कार्यक्रम का शुभारंभ स्वामी डा0 सौमित्रिप्रपन्नाचार्य जी महाराज के कर कमलों द्वारा दीप प्रज्वलित करके किया गया। इस अवसर पर समाजसेवा के क्षेत्र मे उत्कृष्ट कार्य करने वाली चार विभूतियों को सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम का उद्देश्य समाज मे गिरते मानव मूल्यों के प्रति जनजागरण कर समाज को संवेदनशील बनाते हुए राष्ट्र निर्माण मे योगदान देना है।

सांस्कृतिक कार्यक्रम के तहत भजन संध्या एंव सामयिक लोकगीत श्रीमती कुसुम वर्मा अर्न्राष्टीªय लोकगायिका , आशा तिवारी, रेखा, एस0पी0 चौहान, सहित अनेकों कलाकरों ने अपना जलवा बिखेर कर लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया। स्वरा त्रिपाठी ने गणेश वन्दना पर नृत्य प्रस्तुत किया।

कार्यक्रम में चार समाजसेवियों प्रमिल द्विवेदी, केशव मिश्र, शशी सिंह एंव रजनी तिवारी को अंगवस्त्र और प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

संस्थान के अध्यक्ष हास्ययोगी शिवाराम मिश्र ने अतिथियों का मार्ल्यापण कर उन्हें अंग वस्त्र एवं स्मृति चिन्ह प्रदान कर स्वागत व सम्मान किया गया। मुख्य अतिथि ने अपने संबोधन में कहा कि हम सबको अपनी संस्कृति और संस्कार को बचाना चाहिए। अध्यक्ष शिवाराम मिश्र ने बताया कि वह समय समय पर इस तरह की संगोष्ठी आयोजित कर बड़े बड़े विचारकों और विद्वानों के विचारों से जनता को लाभान्वित कराते रहते हैं।

संस्कार संगोष्ठी मे देश के कोने कोने से पधारे जिन विद्वान वक्ताओं ने शिरकत की उनमे से प्रमुख थे मुख्य वक्ता, स्वामी डा0 सौमित्रिप्रपन्नाचार्य जी महाराज पीठाधीश्वर, श्री राम महेश मिश्र डायरेक्टर विश्व जागृति मिशन नई दिल्ली, पं0 श्री केसरी प्रसाद शुक्ल जी आध्यात्मिक विचारक, श्री आनंद नारायण महाराज जी आध्यात्मिक विचारक, श्री रमेश भाई शुक्ल, कथा वाचक एवं धर्मानुरागी तथा श्री धीरेन्द्र मिश्र जी कथावाचक एंव धर्मानुरागी आदि ने अपने अपने विचार व्यक्त किये।

डा0 अशोक बाजपेई मा0 सांसद, श्री आशुतोष टंडन (गोपाल जी), मा0 मंत्री उ0 प्र0, जस्टिस श्री एस0सी0 वर्मा पूर्व लोकायुक्त उ0 प्र0, व श्री बाबा हरदेव सिंह, पूर्व प्रशासनिक अधिकारी एंव समाजसेवी, डा0 मधुसूदन दीक्षित ख्याति प्राप्त शिक्षाविद एवं समाजसेवी सहित कार्यक्रम में अपनी गरिमामयी उपस्थिति से शोभा बढायीं।

कार्यक्रम में सर्व श्री/श्रीमती कृष्णानंद राय, शिवाराम मिश्र, श्रीराम मिश्र, बृजेश मिश्र, अभिषेक, आशुतोष राजन, अम्बरीश मिश्र, राम अवतार सिंह, कृष्ण मोहन मिश्र, वी0बी0 श्रीवास्तव, विश्वास सिंह, पं0 ए0 पी0 चौबे, राम शरण, शारदानंद मिश्र, आर0एन0श्रीवास्तव, सुग्रीव मौर्य, भारती, विभा, अर्चला, पूजा, माया, रीता ज्योति एस0 के0 सिन्हा, हरिशंकर द्विवेदी एवं सुयश शुक्ल आदि सैकड़ों लोग उपस्थित रहे।

Lucknow, Uttar Pradesh, India