अखिलेश ने शिवपाल यादव को अयोग्य ठहराने वाली याचिका वापस ली

अखिलेश ने शिवपाल यादव को अयोग्य ठहराने वाली याचिका वापस ली

लखनऊ: समाजवादी पार्टी ने उत्तर प्रदेश विधानसभा से अपने पार्टी के वरिष्ठ नेता शिवपाल सिंह यादव को अयोग्य घोषित करने वाले अपने आवेदन को दलबदल विरोधी कानून के तहत वापस ले लिया है। विपक्ष और वरिष्ठ सपा नेता रामगोविंद चौधरी ने गुरुवार को बताया कि उन्होंने उत्तर प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित को एक पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने शिवपाल सिंह यादव को अयोग्य घोषित करने वाले आवेदन को वापस ले लिया है।

जब राम गोविंद चौधरी से पूछा गया टिकिया शिवपाल यादव भविष्य में समाजवादी पार्टी में वापस लौट सकते हैं तो इस पर उन्होंने कहा राजनीति में कुछ भी संभव है। पिछले साल सितंबर में समाजवादी पार्टी ने शिवपाल यादव को राज्य विधानसभा से दल बदल विरोधी कानून के तहत अयोग्य घोषित करने की मांग की थी।

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल यादव 2017 के राज्य चुनावों में जसवंत नगर विधानसभा सीट से चुने गए थे। हालांकि बाद में उन्होंने एक नई पार्टी बनाई जिसका नाम प्रगतिशील समाजवादी पार्टी था और उन्होंने फिरोजाबाद सीट से हाल ही में लोकसभा चुनाव भी लड़ा।

राम गोविंद चौधरी जो बलिया की बांसडीह क्षेत्र से विधायक हैं ने बताया कि उन्होंने कोरोना वायरस रोगियों के इलाज में इस्तेमाल होने वाले उपकरणों की खरीद के लिए अपने विधायक कोष से 20 लाख रुपए की मदद दी है और इस संबंध में मुख्य विकास अधिकारी को पत्र भी लिखा है।