माॅगों का निस्तारण न हुआ तो आंदोलन करेंगे सिंचाई कर्मी

माॅगों का निस्तारण न हुआ तो आंदोलन करेंगे सिंचाई कर्मी

लखनऊ: ईरीगेशन डिर्पाटमेन्ट इम्पलाइज यूनियन ने लम्बित मांगों के प्रति विभागीय अनदेखी से नाराज होकर आन्दोलन का नोटिस दिया है। प्रमुख अभियंता परिकल्प एवं नियोजन को दिये गए नोटिस में 15 दिवस के अन्दर 17 सूत्रीय जायज माॅगों के निस्तारण न होने पर 20 जनवरी 2020 से धरना प्रदर्शन और घेराव का निर्णय लिया गया है। यह जानकारी संयुक्त रूप से यूनियन के अध्यक्ष हुकुम सिंह एवं महामंत्री अभिषेक कुमार सिंह ने दी।

यूनियन के अध्यक्ष हुकुम सिंह एवं महामंत्री अभिषेक कुमार सिंह बताया कि नोटिस की जानकारी लिखित रूप से विभागीय मंत्री, विभागाध्यक्ष को प्रेषित की जा चुकी है। उन्होंने बताया कि 17 सूत्रीय मांगों में मुख्य रूप से उच्चतम न्यायालय के निर्णय के अनुपालन में कार्य प्रभारित एवं दैनिक वेतनभोगी कार्मिकों को 20 वर्ष की सेवा के आधार पर पेंशन व एसीपी का लाभ उपलब्ध कराये जाने, 2005 से नियुक्त कर्मचारियों को पुरानी पेंशननीति बहाल कराये जाने, गण्डक संगठन गोरखपुर के अन्तर्गत विभिन्न खण्डों में सेवा से पृथक दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियें को उच्च न्यायालय के निर्णय के अनुपालन में सेवा में रखे जाने,सिंचाई निर्माण खण्ड प्रथम के अन्तर्गत पं. दीनदयाल उपाध्याय सांस्कृतिक एवं उद्यान रायबरेली रोड़ में कार्यरत 173 कार्मिकों का बकाया वेतन देने के लिए श्रम न्यायालय के आदेश का तत्काल अनुपालन कराये जाने की मांग शामिल है। उन्होंने कहा कि इन मांगों को लेकर यूनियन लगातार पत्राचार करने के साथ द्विपक्षीय वार्ता करने की मांग कर रहा है लेकिन विभाग इन कर्मचारियों की समस्याओं का निस्तारण नही कर रहा है। इस सम्बंध में यूनियन की प्रान्तीय कार्यकारिणी की बैठक में आन्दोलन का निर्णय लिया गया।

Lucknow, Uttar Pradesh, India