शिवसेना ने संभाजी भिड़े को भी बैरंग लौटाया, CM की कुर्सी पर अड़ी

शिवसेना ने संभाजी भिड़े को भी बैरंग लौटाया, CM की कुर्सी पर अड़ी

मुंबई: महाराष्ट्र में नई सरकार गठन को लेकर शिवसेना के साथ जारी गतिरोध को दूर करने की कोशिशों में जुटी बीजेपी ने गुरुवार को महाराष्ट्र के प्रभावशाली दक्षिणपंथी नेता संभाजी भिड़े को शिवसेना प्रमुख उद्दव ठाकरे से मिलने उनके आवास मातोश्री भेजा।

संभाजी को उद्धव ठाकरे के पास भेजने के पीछे बीजेपी का उद्देश्य बातचीत का नया दौर शुरू करने का था, लेकिन पुणे मिरर की रिपोर्ट के मुताबिक, शिवसेना के सूत्रों ने बताया कि उद्धव ने भिड़े से मुलाकात नहीं की।

गुरुजी के नाम से चर्चित और महाराष्ट्र की राजनीति में प्रभावशाली शख्सियत माने जाने वाले संभाजी भिड़े 80 के दशक में संघ से जुड़े थे, लेकिन बाद में उन्होंने शिव हिंदुस्तान प्रतिष्ठान नाम से अपना एक अलग संगठन बना लिया था। पिछले साल उनका नाम भीमा-कोरेगांव हिंसा से भी जुड़ा था, लेकिन बीजेपी सरकार ने उन्हें क्लीन चिट दे दी थी।

इस रिपोर्ट के मुताबिक, 'शिवसेना के सूत्रों ने कहा, भिड़े गुरुजी मातोश्री आए थे, लेकिन उद्धव उनसे नहीं मिले। पिछले कुछ दिनों में कई दूत आ चुके हैं, लेकिन हमने स्पष्ट कर दिया है कि हम किसी से बात नहीं करेंगे। ऐसे वार्ताकारों को भेजने से बेहतर है कि देवेंद्र फड़नवीस 50: 50 डील पर अपना मत स्पष्ट करते हुए खुद कॉल करें, इसके अलावा कुछ काम नहीं करेगा।'