जुलूसे मोहम्मदी में शिरकत कर अपनी आख़िरत का सरमाया बनाए: अयूब अशरफ किछौछवी

जुलूसे मोहम्मदी में शिरकत कर अपनी आख़िरत का सरमाया बनाए: अयूब अशरफ किछौछवी

लखनऊ: आल इण्डिया मोहम्मदी मिशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सैयद अयूब अशरफ किछौछवी ने 10 नवम्बर को निकलने वाले जुलूस-ए-मोहम्मदी के सम्बन्ध में लखनऊ की सभी अन्जुमनों के जिम्मेदारों से अपील की है समय का ख्याल रखते हुए दरगाह मख्दूम शाहमीना में दोपहर 1 बजें पहुचकर जुलूस-ए-मोहम्मदी व जश्ने -ए-मोहम्मदी को कामियाब बनाए। उन्होंने कहा कि दरगाह मख्दुम शाहमीना से बाद नमाजे़ जोहर जुलूस-ए-मोहम्मदी बरामद होकर वाया मेडिकल कालेज होता हुआ चौक स्थित ज्योतिबा फुले पार्क में परम्परागत जश्न -ए-मोहम्मदी में परिर्वतित हो जाएगा।

इस सम्बन्ध में उन्होंने उन लोगों से कहा कि जो लोग अपने मोहल्लें में जुलूस-ए-मोहम्मदी में शामिल तो होते है मगर दरगाह मख्दूम शाहमीना तक नही जाते है जो मुस्लिम इत्तेहाद से अपने को अलग करके इस्लाम के शरई उसूलों को नुकसान पहुचा रहे है। जो न सिर्फ उनके इस अमल से एहले सुन्नत वल जमात की सख्या कमजोर दिखती है बल्कि उनके इस अमल से तहरीके मोहम्मदी भी कमजोर पड़ती है। उन्होंने जुलूस-ए-मोहम्मदी में शामिल होने वाले हर ख़ासो आम से अपील की है पैगम्बर मोहम्मद सल्लाहो अलेही वसल्लम की जन्म दिवस के हसीन मौके पर अपने घर से निकलकर दरगाह हज़रत मख्दूम शाहमीना पहुचकर अपनी गुलामी का सुबुत दे और अपनी अकीदत का नज़राना पेश करें और अपनी आख़िरत का सरमाया बनाए।

Lucknow, Uttar Pradesh, India