दिल्ली पुलिस का प्रदर्शन खत्म

दिल्ली पुलिस का प्रदर्शन खत्म

नई दिल्ली: तीस हजारी कोर्ट में वकीलों के साथ झड़प के बाद सड़क पर उतरी दिल्ली पुलिस को मनाने की कोशिशें दिन भर जारी रहने के बाद आखिरकार देर शाम अंजाम तक पहुंची। सभी मांगे माने जाने का आश्वासन मिलने के बाद पुलिसकर्मियों ने करीब 10 घटे चला प्रदर्शन खत्म करने का फैसला लिया।

दिन भर चले घटनाक्रम के बाद शाम में विशेष पुलिस आयुक्त (अपराध) सतीश गोलचा ने प्रदर्शन कर रहे पुलिसकर्मियों को भरोसा दिलाया कि घायल पुलिसकर्मियों कम से कम 25,000 रुपए अनुग्रह राशि के तौर पर दिए जाएंगे।

साथ ही उन्होंने पुलिसकर्मियों से ड्यूटी पर वापस लौटने की गुजारिश की। सतीश गोलचा ने प्रदर्शन कर रहे पुलिसकर्मियों को ये भरोसा भी दिलाया कि दिल्ली उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ पुनर्विचार याचिका दाखिल की जाएगी। इससे पहले दिल्ली के स्पेशल पुलिस ऑफ कमिश्नर आरएस कृष्णा ने भी पुलिस वालों को समझाने की कोशिश की।

दिल्ली उपराज्यपाल अनिल बैजल ने वकीलों के साथ झड़प के बाद मंगलवार को दिल्ली पुलिस कर्मियों के अभूतपूर्व विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर स्थिति की समीक्षा की और कहा कि पूरे मामले में निष्पक्ष न्याय सुनिश्चित करना अनिवार्य है। उपराज्यपाल कार्यालय द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, विशेष आयुक्त (खुफिया) प्रवीर रंजन ने उपराज्यपाल को मौजूदा स्थिति और उच्च न्यायालय के संबंधित आदेशों के बारे में जानकारी दी।

उपराज्यपाल ने कहा कि वकील और पुलिस आपराधिक न्याय प्रणाली के महत्वपूर्ण खंभे हैं और उन्हें पूर्ण सद्भाव के साथ काम करना चाहिए। बैजल ने कहा, 'हालिया दुर्भाग्यपूर्ण घटना के मद्देनजर, दोनों के बीच विश्वास बहाल करना और यह सुनिश्चित करना अनिवार्य है कि पूरे मामले में न्याय निष्पक्ष रूप से किया जाए।'

बता दें कि हजारों पुलिसकर्मी पुलिस मुख्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन करते हुए साकेत अदालत के बाहर अपने सहयोगी पर हमले में शामिल लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

India