हम सरकार बनाने में कोई भूमिका नहीं चाहते: प्रफुल्ल पटेल

हम सरकार बनाने में कोई भूमिका नहीं चाहते: प्रफुल्ल पटेल

मुंबई: महाराष्ट्र में एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल ने कहा कि मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूं कि हम विपक्ष में रहेंगे और एक मजबूत विपक्ष की भूमिका निभाएंगे। हम सरकार बनाने में कोई भूमिका नहीं चाहते हैं, भाजपा-शिवसेना को जनादेश मिला है इसलिए उन्हें शुभकामनाएं। वहीं, कांग्रेस और विधानसभा में विपक्ष के नेता विजय नामदेवराव वाडेत्तीवार ने शनिवार को कहा कि हमें विपक्ष की भूमिका मिली है और हम उस भूमिका को निभाएंगे। लेकिन किसी विकल्प पर चर्चा की जानी है, तो शिवसेना को हमारे पास आना चाहिए। उन्होंने अभी तक हमसे संपर्क नहीं किया है।

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने शनिवार को अपने आवास (मातोश्री) पर पार्टी के नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक बुलाई है। उद्धव खुद इस बैठक की अध्यक्षता करेंगे, जिसमें सरकार में हिस्सेदारी को लेकर चर्चा हो सकती है। नए विधायकों का सम्मान भी होगा। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में भाजपा-शिवसेना गठबंधन ने 161 सीटों पर जीत हासिल की, जिसमें भाजपा की 105 और शिवसेना की 56 सीट हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, दोनों दल दीपावली बाद सरकार बनाने के लिए मुलाकात करेंगे।

गुरुवार को चुनाव नतीजे आने के बाद उद्धव ने कहा था कि लोकसभा चुनाव के दौरान ही भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के संबंध में सारी बातें हो गई थीं। अब समय आ गया है कि उसे अमल में लाया जाए। ठाकरे ने कहा था कि वह अपनी पार्टी के नेताओं के साथ पहले बैठक करेंगे। इसके बाद भाजपा नेताओं के साथ सरकार बनाने के संबंध में चर्चा करेंगे।

इस बार के विधानसभा चुनाव परिणाम में भाजपा को झटका लगा है। 2014 में जहां भाजपा ने 122 सीटों पर जीत दर्ज की थी। वहीं, इस बार शिवसेना से गठबंधन होने के बाद भी वह 105 सीटों पर सिमट गई। वहीं, शिवसेना ने पिछले चुनाव की तुलना में 14 ज्यादा सीटों पर जीत दर्ज की। इस हिसाब से शिवसेना, सरकार में पिछली बार की तुलना में ज्यादा हिस्सेदारी की मांग कर सकती है। 2014 ने दोनों दलों ने अलग-अलग चुनाव लड़ा था।