मंदी की मार: टोयोटा किर्लोस्करने कर्मचारियों को दिया  VRS का ऑफर

मंदी की मार: टोयोटा किर्लोस्करने कर्मचारियों को दिया VRS का ऑफर

नई दिल्ली: वाहन क्षेत्र में सुस्ती और मांग में कमी के बीच वाहन निर्माता कंपनी टोयोटा किर्लोस्कर मोटर (टीकेएम) ने कर्नाटक के बिदादी में अपनी विनिर्माण इकाई के कर्मचारियों के लिए स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (वीआरएस) शुरू की है। टीकेएम , जापान की टोयोटा और किर्लोस्कर समूह का संयुक्त उद्यम है। कंपनी ने संयंत्र में कम से कम पांच साल तक काम करने वाले स्थाई कर्मचारियों और निगरानी श्रेणी के कर्मचारियों के लिए यह योजना शुरू की है।

कंपनी की ' नव - जीवन योजना ' 22 सितंबर से शुरू हुई और यह 23 अक्टूबर तक चलेगी। टोयोटा किर्लोस्कर के उपाध्यक्ष शेखर विश्वनाथन ने बताया कि यह योजना पूरी तरह से स्वैच्छिक है और इसका टीकेएम के कारोबार की स्थिति से कोई लेनादेना नहीं है। उन्होंने कहा , " वित्तीय सुरक्षा के साथ करियर बदलने और कंपनी से अलग होकर अपनी आकांक्षा के अनुरूप लक्ष्य हासिल करने में कमर्चारियों का समर्थन करने के लिए यह योजना शुरू की गई है।"

विश्वनाथन ने कहा कि योजना के लिए आवेदन करने वाले कर्मचारियों को सामान्य सेवानिवृत्ति लाभ के अलावा क्षतिपूर्ति पैकेज मिलेगा। टीकेएम के देश में करीब 6,500 कर्मचारी हैं। बिदादी में कंपनी के दो कारखाने हैं , जिनकी कुल स्थापित उत्पादन क्षमता 3.10 लाख इकाई सालाना है। आर्थिक सुस्ती के दौर से गुजर रहीं वाहन कंपनियां कर्मचारियों के लिए स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना पेश कर रही हैं। पिछले महीने हीरो मोटोकॉर्प ने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना शुरू की थी।