विकास के लिए नियत साफ होनी चाहिए: मुख्यमंत्री योगी

विकास के लिए नियत साफ होनी चाहिए: मुख्यमंत्री योगी

लखनऊ; मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि उनकी सरकार में सपा-बसपा सरकार से कई गुना अधिक निवेश मात्र 16 महीने में हुआ है। पांच महीने पहले 6.68 लाख करोड़ का एमओयू हुआ और पांच माह में 60,000 करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास हो रहा है और 50,000 करोड़ की योजनाएं शिलान्यास होने के लिए पाइप लाइन में हैं।

मुख्यमंत्री रविवार को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में औद्योगिक निवेश के ग्राउंड सेरेमनी कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि विकास के लिए नियत साफ होनी चाहिए। इसके पहले बसपा की सरकार में मात्र 5700 करोड़ और सपा सरकार के पांच साल के कार्यक्रम में 50,000 करोड़ रुपये का निवेश हुआ। यूपी में 'ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के क्षेत्र में तेजी से काम हो रहा है। यूपी के बारे में अब सोच बदलने लगी है। प्रमुख राज्यों में उत्तर प्रदेश ने भी अपना स्थान बनाया है। पहले यूपी के बारे में एक चर्चा होती थी कि एक विशेष क्षेत्र में ही काम होता है, लेकिन उनकी सरकार ने यह धारणा भी तोड़ी। आज हर क्षेत्र में काम हो रहा है।

उन्होंने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे देश का सबसे बड़ा हाईवे होगा। साल के अंत तक बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का भी शिलान्यास कराने की तैयारी है। मुख्यमंत्री ने आंकड़ा पेश करते हुए कहा कि पश्चिमांचल में 51 फीसदी, मध्यांचल व बुंदेलखंड में 20 फीसदी व पूर्वी उत्तर प्रदेश में 22 प्रतिशत काम हुआ है। प्रदेश में निवेश का नया वातावरण बनाने का काम शुरू हुआ है। यूपी में निवेश को बढ़ावा देने के लिए उद्यमियों की सुरक्षा के लिए विशेष सुरक्षा बल का गठन किया गया है। इसके अलावा अन्य क्षेत्रों में भी तेजी से काम हो रहा है। वाराणसी में तेजी से काम चल रहा है।

Lucknow, Uttar Pradesh, India