बीजेपी का सांप्रदायिक सद्भाव में विश्वास नहीं : मायावती

बीजेपी का सांप्रदायिक सद्भाव में विश्वास नहीं : मायावती

लखनऊ: बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने आज फिर पीएम मोदी पर निशाना साधा. उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी का सांप्रदायिक सद्भाव में विश्वास नहीं है. बीएसपी ने सभी जाति और धर्म के लोगों को टिकट दिया है. जबकि भेदभाव बीजेपी और खुद पीएम नरेंद्र मोदी करते हैं.

पीएम नरेंद्र मोदी के शमशान और बिजली वाले बयान को लेकर मायावती ने कहा कि बिजली देने में भेदभाव की बात गलत है. पीएम को पहले बीजेपी शासित राज्यों के हर गांव हिन्दुओं के शमशान घाट बनाने चाहिए फिर यूपी की बात करनी चाहिए. बीजेपी नंबर एक की जातिवादी पार्टी है. यदि वह जातिवादी पार्टी नहीं होती हैदराबाद में वेमुला कांड और गुजरात में उना कांड नहीं होते. दरअसल, यूपी में बीजेपी की हालत खऱाब है इसलिए वह घटिया राजनीति पर उतर आई है.

दरअसल पीएम मोदी ने फतेहपुर की रैली में भेदभाव का आरोप लगाते हुए कहा था कि गांव में अगर कब्रिस्तान बनता है तो शमशान भी बनना चाहिए. रमजान में बिजली मिलती है तो दिवाली पर भी बिजली मिलनी चाहिए. होली पर बिजली मिलती है तो ईद पर भी बिजली मिलनी चाहिए. जाति धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं होना चाहिए. ऊंच नीच नहीं होना चाहिए.