SGPGI में और बेहतर होंगी चिकित्सकीय सेवाएं

SGPGI में और बेहतर होंगी चिकित्सकीय सेवाएं

मुख्यमंत्री ने दिए निर्देश, कार्याें की समीक्षा की

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान लखनऊ (एस0जी0पी0जी0आई0) में चिकित्सकीय सेवाओं और अवस्थापना सुविधाओं को बेहतर बनाए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि इस संस्थान ने चिकित्सा के क्षेत्र में अपनी खास और महत्वपूर्ण पहचान बनाई है। एस0जी0पी0जी0आई0 उत्कृष्ट इलाज की सुविधाओं के सुदृढ़ीकरण के लिए समयबद्ध ढंग से कार्य कर जनता को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करा सकता है। राज्य सरकार इस संस्थान की सुविधाओं और संसाधनों की बढ़ोत्तरी के लिए कृतसंकल्प है। मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर आयोजित एक बैठक में एस0जी0पी0जी0आई0 के कार्याें की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने संस्थान की अवस्थापना सुविधाओं के सम्बन्ध में निर्देश दिए कि एस0जी0पी0जी0आई0 के नवीन ओ0पी0डी0 का निर्माण कार्य शीघ्रता से पूरा किया जाए। अधिकारियों ने अवगत कराया कि भवन निर्माण की सम्पूर्ण धनराशि कार्यदायी संस्था को उपलब्ध करा दी गई है। अगले 10 दिनों में फर्नीचर और उपकरण की अवशेष समस्त धनराशि भी उपलब्ध करा दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि कार्यदायी संस्था द्वारा 30 सितम्बर, 2016 तक फर्नीचर, माड्यूलर ओ0टी0 सम्बन्धी समस्त कार्य पूर्ण कर लिए जाएं, जिससे भवन को हस्तान्तरण योग्य बनाया जा सके। इस सम्बन्ध में एस0जी0पी0जी0आई0 के निदेशक ने बताया कि नवीन ओ0पी0डी0 को क्रियाशील करने के लिए अतिरिक्त मानव संसाधन की जरूरत नहीं होगी और आगामी दशहरे तक इसको जनोपयोगी बना दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने एस0जी0पी0जी0आई0 के लेक्चर हाॅल और लाइब्रेरी बिल्ंिडग के सम्बन्ध में कार्यदायी संस्था को 5 प्रतिशत की धनराशि और फर्नीचर हेतु आवश्यक धनराशि अगले 10 दिनों में उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। इस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि 30 सितम्बर, 2016 तक सारे कार्य फर्नीचर सहित पूरे करा लिए जाएंगे और हस्तगत करने योग्य बना दिए जाएंगे। श्री यादव ने निर्देशित किया कि उपलब्ध संसाधनों से लाइब्रेरी/लेक्चर हाॅल को क्रियाशील कर दिया जाए और दशहरे तक इन्हें लिए हर हाल में चालू कर दिया जाए। न्यूरो सर्जरी ओ0टी0 और आई0सी0यू0 काॅम्पलेक्स के निर्माण के सम्बन्ध में मुख्यमंत्री को बताया गया कि 02 ओ0टी0 क्रियाशील हो गए हैं और 03 अवशेष ओ0टी0 के लिए अतिरिक्त आवश्यक धनराशि प्रशासकीय विभाग द्वारा अगले 15 दिनों में उपलब्ध करा दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि कार्यदायी संस्था 30 सितम्बर, 2016 तक सभी उपकरणों और आवश्यक इन्तजामों के साथ ओ0टी0 को हस्तगत कराने की स्थिति में होनी चाहिए और दशहरे तक एस0जी0पी0जी0आई0 इन ओ0टी0 को क्रियाशील कर लें। श्री यादव ने निर्देश दिए कि सी0सी0एम0-आई0सी0यू0 में राजकीय निर्माण निगम द्वारा 15 जुलाई, 2016 तक हर हाल में कार्य को पूर्ण कराकर हस्तगत कराया जाए और 01 अगस्त, 2016 को इन सी0सी0एम0-आई0सी0यू0 को क्रियाशील कर दिया जाए। मुख्यमंत्री ने बी0एम0टी0 वर्क इन हीमाॅटोलोजी वाॅर्ड के लिए अतिरिक्त आवश्यक धनराशि अगले 15 दिनों में कार्यदायी संस्था को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कार्यदायी संस्था द्वारा 30 सितम्बर, 2016 तक उपकरणों व फर्नीचर को हस्तगत करा दिया जाए। निदेशक एस0जी0पी0जी0आई0 ने अवगत कराया कि इस वाॅर्ड को भी दशहरे तक जनोपयोगी कर दिया जाएगा।

Lucknow, Uttar Pradesh, India